दिल्ली : शीला की हुई जीत, आप के साथ गठबंधन नहीं करेगी कांग्रेस

sheela and arvind
दिल्ली : शीला की हुई जीत, आप के साथ गठबंधन नहीं करेगी कांग्रेस

नई दिल्ली। लोकसभा—2019 में दिल्ली में कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन से इंकार कर दिया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने इस मामले को लेकर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की मीटिंग दिल्ली में बुलाई थी। जिसमें तय हुआ कि ​दिल्ली में कांग्रेस आप के गठबंधन नहीं करेगी, बल्कि वो अकेले ही चुनाव लड़ेगी।

No Alliance Between Congress And Aam Aadmi Party In Delhi Loksabha Election :

इस बैठक के बाद दिल्ली कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित ने कहा कि आम आदमी पार्टी के साथ कांग्रेस गठबंधन नहीं करेगी। उन्होने कहा कि मैने राहुल गांधी को बताया कि दिल्ली में आप के साथ गठबंधन नहीं होना चाहिए, जिस पर उन्होने सहमति दे दी। बता दे कि दोनों ही पार्टियों के मुखिया चाहते थे कि साथ में चुनाव लड़ा जाए, लेकिन शीला दीक्षित इस गठबंधन के खिलाफ थीं और आखिरकार उनकी जीत हो गई।

बता दें कि गठबंधन को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के दिल्ली स्थित आवास पर ये बैठक मंगलवार दोपहर की गई। सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक में राहुल के साथ दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित के साथ-साथ तीनों कार्यकारी अध्यक्षों- पूर्व विधायक हारुन यूसुफ, राजेश लिलोठिया और देवेंद्र यादव भी मौजूद थे।

नई दिल्ली। लोकसभा—2019 में दिल्ली में कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन से इंकार कर दिया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने इस मामले को लेकर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की मीटिंग दिल्ली में बुलाई थी। जिसमें तय हुआ कि ​दिल्ली में कांग्रेस आप के गठबंधन नहीं करेगी, बल्कि वो अकेले ही चुनाव लड़ेगी।

इस बैठक के बाद दिल्ली कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित ने कहा कि आम आदमी पार्टी के साथ कांग्रेस गठबंधन नहीं करेगी। उन्होने कहा कि मैने राहुल गांधी को बताया कि दिल्ली में आप के साथ गठबंधन नहीं होना चाहिए, जिस पर उन्होने सहमति दे दी। बता दे कि दोनों ही पार्टियों के मुखिया चाहते थे कि साथ में चुनाव लड़ा जाए, लेकिन शीला दीक्षित इस गठबंधन के खिलाफ थीं और आखिरकार उनकी जीत हो गई।

बता दें कि गठबंधन को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के दिल्ली स्थित आवास पर ये बैठक मंगलवार दोपहर की गई। सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक में राहुल के साथ दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित के साथ-साथ तीनों कार्यकारी अध्यक्षों- पूर्व विधायक हारुन यूसुफ, राजेश लिलोठिया और देवेंद्र यादव भी मौजूद थे।