दार्जिलिंग में नहीं थम रही हिंसा, आगजनी जारी

दार्जिलिंग। पश्चिम बंगाल के उत्तरी पर्वतीय इलाके में जारी अस्थिरता के बीच कथित तौर पर पुलिस की गोली से एक गोरखालैंड समर्थक की मौत के बाद भड़की हिंसा और आगजनी की घटनाएं रविवार को भी जारी रहीं। पुलिस ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने रविवार की सुबह कुरसियोंग में प्रखंड कार्यालय को आग लगा दी, जिसमें इमारत का एक हिस्सा जल गया।

पश्चिम बंगाल से अलग गोरखालैंड राज्य बनाने की मांग कर रहे लोगों ने रविवार को पोखरिबिंग पंचायत कार्यालय को भी आग लगा दी और दार्जिलिंग के पोखरी में स्थित पुलिस की एक सीमा चौकी में तोड़-फोड़ की। गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) के समर्थकों ने शनिवार को भी उत्पात मचाया था और एक पुलिस चौकी तथा कई सरकारी कार्यालयों में तोड़फोड़ और आगजनी की थी। जीजेएम कार्यकर्ताओं का गुस्सा कथित तौर पर पुलिस की गोली से उनके एक समर्थक की मौत के बाद फूटा।

{ यह भी पढ़ें:- 'पद्मावती' के स्वागत को तैयार हैं ममता बनर्जी, बोली- रिलीज के लिये खास इंतजाम भी कर देंगे }

पुलिस ने हालांकि इससे इनकार किया है, वहीं जीजेएम के अलावा गोरखा नेशनल लिबरेशन फ्रंट (जीएनएलएएफ) ने मृतक ताशी भूटिया को अपनी-अपनी पार्टी का समर्थक बताया है। दार्जिलिंग के सोनादा पुलिस थाने में व्यक्ति की मौत के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

{ यह भी पढ़ें:- ममता बनर्जी ने GST को बताया ग्रेट सेल्फिश टैक्स, आठ नवंबर को मनाएंगी काला दिवस }

Loading...