1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. निर्माण कार्यों में किसी भी तरह की लापरवाही या धांधली बर्दाश्त नहीं की जाएगी : सीएम योगी

निर्माण कार्यों में किसी भी तरह की लापरवाही या धांधली बर्दाश्त नहीं की जाएगी : सीएम योगी

No Negligence Or Rigging Will Be Tolerated In Construction Works Cm Yogi

By शिव मौर्या 
Updated Date

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ठेकेदारों को सख्त चेतावनी दी है। उन्होंने कहा है कि कार्यों में घोटाला करने और लापरवाही करने वालों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जायेगी। सीएम ने गोरखपुर में डूडा, नगर निगम, लोनिवि समेत कुछ अन्य विभागों में सड़क निर्माण में घोटाले पर सख्त रुख अख्तियार किया है। विभागीय अभियंताओं और अफसरों से साठ- गांठ कर मौके पर हुए निर्माण से ज्यादा लंबाई की सड़क का भुगतान कर लेने वाले ठेकेदारों पर कार्रवाई होगी।

पढ़ें :- एलटी ग्रेड 3,317 शिक्षकों को नियुक्ति पत्र मिलना शुरू, सीएम योगी ने पांच अभ्यर्थियों खुद सौंपा लेटर

सीएम ने कमिश्नर जयंत नार्लिकर को ऐसे मामलों की जांच करा कर संबंधित ठेकेदारों के साथ-साथ विभागीय अभियंताओं- अफसरों की सूची तैयार करने को कहा है ताकि उनपर कार्रवाई हो सके। गुरुवार को विकास कार्यों के ऑनलाइन शिलान्यास कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि निर्माण कार्यों में किसी भी तरह की लापरवाही या धांधली बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 400 मीटर की सड़क बनाकर 700 मीटर तक का भुगतान करा लेने वालों पर शासन-प्रशासन की नजर है। वे बख्शे नहीं जाएंगे।

उन्होंने कहा कि शासन के धन पर डकैती करने वालों पर सख्ती से कार्रवाई की जाएगी। उनसे धन की वसूली होगी। कहीं भी अधूरा काम नहीं होगा। जलनिकासी के भी प्रबंध किए जाएंगे। जहां सड़कें बनेंगी वहां नालियों का भी निर्माण कराया जाएगा। सीएम ने निर्देश दिए कि सभी काम समय से और गुणवत्तायुक्त पूरे किए जाएं। विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री के पास शिकायत पहुंची हैं कि डूडा, नगर निगम, लोनिवि समेत कुछ अन्य विभागों में कई सड़कों का मौके पर निर्माण कम है और फाइलों में उसे ज्यादा लंबी बताकर भुगतान करा लिया गया है।

इनमें ज्यादातर काम 2017 के पहले के हैं। इसके पहले भी कई बार इस तरह के मामले सामने आ चुके हैं जब सिर्फ सरकारी फाइलों में अधिक निर्माण दिखाकर भुगतान करा लिया गया जबकि मौके पर सड़क कम है। निर्माण कार्य समय से गुणवत्ता युक्त पूरे हों इसलिए मुख्यमंत्री ने कमिश्नर को हर परियोजना के लिए एक-एक नोडल अफसर तैनात करने के साथ ही खुद भी मॉनिटरिंग करने का निर्देश दिया। नोडल अफसर संबंधित परियोजना की नियमित निगरानी करेंगे और गड़बड़ी होने पर कमिश्नर को रिपोर्ट करेंगे।

 

पढ़ें :- यूपी: 1535 थानों में महिला हेल्प डेस्क का सीएम योगी ने किया शुभारंभ, कहीं ये बातें....

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...