रेलवे के निजीकरण की नहीं है कोई योजनाः पीयूष गोयल

piyush goyal
रेलवे के निजीकरण की नहीं है कोई योजनाः पियूष गोयल

नई दिल्ली। राजधानी और शताब्दी एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों का निजीकरण करने की बात को रेल मंत्री पीयूष गोयल ने आज सिरे से खारिज कर दिया। उन्होने राज्यसभा में कहा कि ऐसी कोई योजना नहीं है। बता दें कि सपा सदस्य सुरेंद्र सिंह नागर ने सवाल पूछा था किया सरकार राजधानी और शताब्दी जैसी ट्रेनों का निजीकरण करने की योजना बना रही है।

No Plan To Privatize Railway Syas Piyush Goyal :

एक अन्य प्रश्न के लिखित उत्तर में गोयल ने बताया कि सरकार लंबी दूरी की ट्रेनों के डिब्बों में सीसीटीवी कैमरे लगवाने की योजना तैयार कर रही है। उन्होने कहा कि सीसीटीवी कैमरों की योजना प्रीमियम, मेल, एक्सप्रेस और उपनगरीय ट्रेनों के सभी सवारी डिब्बों में सीसीटीवी कैमरे लगवाने की पहल की गई है। गोयल ने बताया कि इस योजना के पहले चरण में इन ट्रेनों के 7020 सवारी डिब्बों में सीसीटीवी कैमरे लगवाए जाएंगे।

एक अन्य प्रश्न के उत्तर के जवाब में पियूष गोयल ने कहा कि इस वर्ष 31 जनवरी तक ऐसी सभी बड़ी लाइनों को समाप्त कर दिया था, जो बिना चैकीदारों के थी। उन्होंने कहा कि मौजूदा नीति के मुताबिक मीटर लाइन और छोटी लाइन पर बिना चौकीदार वाली रेलवे क्रॉसिंग को अमान परिवर्तन के दौरान समाप्त कर दिया जाएगा।

नई दिल्ली। राजधानी और शताब्दी एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों का निजीकरण करने की बात को रेल मंत्री पीयूष गोयल ने आज सिरे से खारिज कर दिया। उन्होने राज्यसभा में कहा कि ऐसी कोई योजना नहीं है। बता दें कि सपा सदस्य सुरेंद्र सिंह नागर ने सवाल पूछा था किया सरकार राजधानी और शताब्दी जैसी ट्रेनों का निजीकरण करने की योजना बना रही है। एक अन्य प्रश्न के लिखित उत्तर में गोयल ने बताया कि सरकार लंबी दूरी की ट्रेनों के डिब्बों में सीसीटीवी कैमरे लगवाने की योजना तैयार कर रही है। उन्होने कहा कि सीसीटीवी कैमरों की योजना प्रीमियम, मेल, एक्सप्रेस और उपनगरीय ट्रेनों के सभी सवारी डिब्बों में सीसीटीवी कैमरे लगवाने की पहल की गई है। गोयल ने बताया कि इस योजना के पहले चरण में इन ट्रेनों के 7020 सवारी डिब्बों में सीसीटीवी कैमरे लगवाए जाएंगे। एक अन्य प्रश्न के उत्तर के जवाब में पियूष गोयल ने कहा कि इस वर्ष 31 जनवरी तक ऐसी सभी बड़ी लाइनों को समाप्त कर दिया था, जो बिना चैकीदारों के थी। उन्होंने कहा कि मौजूदा नीति के मुताबिक मीटर लाइन और छोटी लाइन पर बिना चौकीदार वाली रेलवे क्रॉसिंग को अमान परिवर्तन के दौरान समाप्त कर दिया जाएगा।