आलोक वर्मा के खिलाफ भ्रष्टाचार के कोई साक्ष्य ही नही है : ​जस्टिस एके पटनायक

cbi alok verma
आलोक वर्मा के खिलाफ भ्रष्टाचार के कोई साक्ष्य ही नही है : ​जस्टिस एके पटनायक

नई दिल्ली। सीबीआई केस में आलोक वर्मा को सीबीआई के डायरेक्टर पद से हटाए जाने के बाद सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस एके पटनायक ने एक बड़ा बयान दिया है। उन्होने कहा कि आलोक वर्मा के खिलाफ भ्रष्टाचार के कोई साक्ष्य नहीं हैं। उन्होने कहा कि पीएम मोदी के पैनल ने आलोक वर्मा को बहुत जल्दबाजी हटा दिया।

No Proof Of Corruption Against Ex Cbi Chief Alok Verma Says Justice Ak Patnaik :

बता दें कि आलोक वर्मा के खिलाफ केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) द्वारा जांच की निगरानी का जिम्मा जस्टिस एके पटनायक को ही सौंपा गया गया था। उन्होने कहा कि आलोक वर्मा के खिलाफ जांच पूरी तरह से सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना की शिकायत पर आधारित थी।

बता दें कि सीबीआई निदेशक का प्रभार फिलहाल अतिरिक्त निदेशक एम. नागेश्वर राव के पास है। प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता वाली उच्चस्तरीय समिति में लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और न्यायमूर्ति ए. के. सीकरी हैं। न्यायमूर्ति सीकरी को प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने अपने प्रतिनिधि के रूप में नियुक्त किया है।

नई दिल्ली। सीबीआई केस में आलोक वर्मा को सीबीआई के डायरेक्टर पद से हटाए जाने के बाद सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस एके पटनायक ने एक बड़ा बयान दिया है। उन्होने कहा कि आलोक वर्मा के खिलाफ भ्रष्टाचार के कोई साक्ष्य नहीं हैं। उन्होने कहा कि पीएम मोदी के पैनल ने आलोक वर्मा को बहुत जल्दबाजी हटा दिया।बता दें कि आलोक वर्मा के खिलाफ केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) द्वारा जांच की निगरानी का जिम्मा जस्टिस एके पटनायक को ही सौंपा गया गया था। उन्होने कहा कि आलोक वर्मा के खिलाफ जांच पूरी तरह से सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना की शिकायत पर आधारित थी।बता दें कि सीबीआई निदेशक का प्रभार फिलहाल अतिरिक्त निदेशक एम. नागेश्वर राव के पास है। प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता वाली उच्चस्तरीय समिति में लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और न्यायमूर्ति ए. के. सीकरी हैं। न्यायमूर्ति सीकरी को प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने अपने प्रतिनिधि के रूप में नियुक्त किया है।