1. हिन्दी समाचार
  2. अवमानना केस में प्रशांत भूषण को राहत नहीं, SC ने नहीं स्वीकार की माफी

अवमानना केस में प्रशांत भूषण को राहत नहीं, SC ने नहीं स्वीकार की माफी

No Relief To Prashant Bhushan In Contempt Case Sc Did Not Accept Apology

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण और पत्रकार तरुण तेजपाल के खिलाफ SC की अवमानना के तहत 11 वर्ष पुराने मामले की कोर्ट में सोमवार को सुनवाई हुई। इस दौरान प्रशांत भूषण ने अपना स्पष्टीकरण पेश किया लेकिन अदालत ने इसे स्वीकार नहीं किया। न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा और न्यायमूर्ति बी आर गवई और कृष्ण मुरारी की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि वह मामले को सुनेगा और यह देखेगा कि न्यायाधीशों के बारे में भ्रष्टाचार पर टिप्पणी असल में अवमानना है या नहीं।

पढ़ें :- बॉलीवुड को एक और बड़ा झटका, गीतकार अभिलाष ने दुनिया को कहा अलविदा

पीठ ने इस मामले में अगली सुनवाई 17 अगस्त को तय की है। बता दें कि, सुप्रीम कोर्ट को आज तय करना था कि अवमानना के इस मामले में वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण के स्पष्टीकरण को स्वीकार करे या इस कार्रवाई को आगे बढ़ाए।

नवंबर 2009 में एक तहलका पत्रिका के साक्षात्कार में शीर्ष अदालत के कुछ मौजूदा एवं पूर्व न्यायाधीशों पर कथित तौर पर आक्षेप लगाने के लिए भूषण और तेजपाल को अवमानना नोटिस जारी किया था। बता दें कि उस दौरान तहलका के संपादक तरुण तेजपाल थे। प्रशांत ​भूषण ने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में अपना स्पष्टीकरण पेश किया था। जबकि तहलका के संपादक तरुण तेजपाल ने माफी मांगी है।

अदालत ने कहा कि वह इस मामले में विचार करेगा कि न्यायाधीशों के बारे में भ्रष्टाचार की टिप्पणी असल में अवमानना है या नहीं। चार अगस्त को, शीर्ष अदालत ने भूषण और तेजपाल को स्पष्ट किया था कि वह मामले में अगर उनका स्पष्टीकरण या माफी स्वीकार नहीं करती है तो वह सुनवाई करेगी।

पढ़ें :- SSB ने 1541 पदों पर निकाली भर्ती, ऐसे कर सकतें हैं आसानी से अप्लाई

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...