नहीं निकाल पा रहे योग और एक्सर्साइज के लिए टाइम तो मात्र इस आसान से खुद को रखें स्वस्थ

नहीं निकाल पा रहे योग और एक्सर्साइज के लिए टाइम तो मात्र इस आसान से खुद को रखें स्वस्थ
नहीं निकाल पा रहे योग और एक्सर्साइज के लिए टाइम तो मात्र इस आसान से खुद को रखें स्वस्थ

लखनऊ। आज पूरे विश्वभर में योग दिवस(Yoga Day 2019) एक उत्सव की तरह मनाया जा रहा है। योग ही एक मात्र ऐसा साधन है जिसके जरिए हम खुद को शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के साथ-साथ मानसिक रूप से भी स्वस्थ रह सकते हैं। अगर आप किसी वजह से रोजाना योग नहीं कर पा रहे हैं तो आज हम आपको एक ऐसे व्यायाम के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे संपूर्ण व्यायाम माना जाता है। अगर आप रोजाना सुबह 10 बार सिर्फ सूर्य नमस्कार ही करते हैं तो आपके पूरे शरीर की एक्सर्साइज हो जाएगी।

No Time For Yoga And Exercise Surya Namaskar Will Prove Beneficial :

बता दें कि सूर्य नमस्कार करने से शरीर को ऊर्जा मिलती है और मानसिक तनाव से मुक्ति मिलती है। यह इम्यून सिस्टम और हॉर्मोनल सिस्टम को भी बैलेंस करता है। इसमें कुल 12 आसन हैं जिन्हें करने न सिर्फ आपका शरीर ऐक्टिव रहता है बल्कि मन भी पूरी तरह से शुद्ध हो जाता है।

ऐसे करें सूर्य नमस्कार

  • सबसे पहले दोनों हाथों को जोड़कर सीधे खड़े हो जाएं।
  • सांस भरते हुए अपने दोनों हाथों को ऊपर की ओर कानों से सटाएं और शरीर को पीछे की ओर स्ट्रेच करें।
  • सांस बाहर निकालते हुए व हाथों को सीधे रखते हुए आगे की ओर झुकें व हाथों को पैरों के राइट-लेफ्ट जमीन से स्पर्श करें। यहां ध्यान रखें कि इस दौरान घुटने सीधे रहें।
  • सांस भरते हुए राइट पैर को पीछे की ओर ले जाएं और गर्दन को पीछे की ओर झुकाएं। इस स्थिति में कुछ समय तक रुकें।
  • अब सांस धीरे-धीरे छोड़ते हुए लेफ्ट पैर को भी पीछे ले जाएं व दोनों पैर की एड़ियों को मिलाकर शरीर को पीछे की ओर स्ट्रेच करें।
  • सांस भरते हुए नीचे आएं व लेट जाएं।
  • शरीर के ऊपरी भाग को उठाएं और गर्दन को पीछे की ओर करते हुए पूरे शरीर को पीछे की ओर स्ट्रेच करें व कुछ सेकंड्स तक रुकें।
  • अब पीठ को ऊपर की ओर उठाएं व सिर झुका लें। एड़ी को जमीन से लगाएं।
  • दोबारा चौथी प्रक्रिया को अपनाएं लेकिन इसके लिए दाएं पैर को आगे लाएं व गर्दन को पीछे की ओर झुकाते हुए स्ट्रेच करें।
  • लेफ्ट पैर को वापस लाएं और दाएं के बराबर में रखकर तीसरी स्थिति में आ जाएं यानी घुटनों को सीधे रखते हुए हाथों से पैरों के दाएं-बाएं जमीन से स्पर्श करें।
  • सांस भरते हुए दोनों हाथों को कानों से सटाकर ऊपर उठें और पीछे की ओर स्ट्रेच करते हुए फिर दूसरी अवस्था में आ जाएं।
  • फिर से पहली स्थिति में आ जाएं यानी दोनों हाथों जोड़कर सीधे खड़े हो जाएं।
लखनऊ। आज पूरे विश्वभर में योग दिवस(Yoga Day 2019) एक उत्सव की तरह मनाया जा रहा है। योग ही एक मात्र ऐसा साधन है जिसके जरिए हम खुद को शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के साथ-साथ मानसिक रूप से भी स्वस्थ रह सकते हैं। अगर आप किसी वजह से रोजाना योग नहीं कर पा रहे हैं तो आज हम आपको एक ऐसे व्यायाम के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे संपूर्ण व्यायाम माना जाता है। अगर आप रोजाना सुबह 10 बार सिर्फ सूर्य नमस्कार ही करते हैं तो आपके पूरे शरीर की एक्सर्साइज हो जाएगी। बता दें कि सूर्य नमस्कार करने से शरीर को ऊर्जा मिलती है और मानसिक तनाव से मुक्ति मिलती है। यह इम्यून सिस्टम और हॉर्मोनल सिस्टम को भी बैलेंस करता है। इसमें कुल 12 आसन हैं जिन्हें करने न सिर्फ आपका शरीर ऐक्टिव रहता है बल्कि मन भी पूरी तरह से शुद्ध हो जाता है। ऐसे करें सूर्य नमस्कार
  • सबसे पहले दोनों हाथों को जोड़कर सीधे खड़े हो जाएं।
  • सांस भरते हुए अपने दोनों हाथों को ऊपर की ओर कानों से सटाएं और शरीर को पीछे की ओर स्ट्रेच करें।
  • सांस बाहर निकालते हुए व हाथों को सीधे रखते हुए आगे की ओर झुकें व हाथों को पैरों के राइट-लेफ्ट जमीन से स्पर्श करें। यहां ध्यान रखें कि इस दौरान घुटने सीधे रहें।
  • सांस भरते हुए राइट पैर को पीछे की ओर ले जाएं और गर्दन को पीछे की ओर झुकाएं। इस स्थिति में कुछ समय तक रुकें।
  • अब सांस धीरे-धीरे छोड़ते हुए लेफ्ट पैर को भी पीछे ले जाएं व दोनों पैर की एड़ियों को मिलाकर शरीर को पीछे की ओर स्ट्रेच करें।
  • सांस भरते हुए नीचे आएं व लेट जाएं।
  • शरीर के ऊपरी भाग को उठाएं और गर्दन को पीछे की ओर करते हुए पूरे शरीर को पीछे की ओर स्ट्रेच करें व कुछ सेकंड्स तक रुकें।
  • अब पीठ को ऊपर की ओर उठाएं व सिर झुका लें। एड़ी को जमीन से लगाएं।
  • दोबारा चौथी प्रक्रिया को अपनाएं लेकिन इसके लिए दाएं पैर को आगे लाएं व गर्दन को पीछे की ओर झुकाते हुए स्ट्रेच करें।
  • लेफ्ट पैर को वापस लाएं और दाएं के बराबर में रखकर तीसरी स्थिति में आ जाएं यानी घुटनों को सीधे रखते हुए हाथों से पैरों के दाएं-बाएं जमीन से स्पर्श करें।
  • सांस भरते हुए दोनों हाथों को कानों से सटाकर ऊपर उठें और पीछे की ओर स्ट्रेच करते हुए फिर दूसरी अवस्था में आ जाएं।
  • फिर से पहली स्थिति में आ जाएं यानी दोनों हाथों जोड़कर सीधे खड़े हो जाएं।