प्रवासी मजदूरों को लेकर बेटी ने किया ऐसा काम, छत्तीसगढ़-झारखंड के सीएम ने दी बधाई

biharika-dwiwedi
प्रवासी मजदूरों को लेकर बेटी ने किया ऐसा काम, छत्तीसगढ़-झारखंड के सीएम ने दी बधाई

नई दिल्ली। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने नोएडा की एक बारह साल की लड़की का आभार व्यक्त किया है, जिसने अपनी जेब खर्च के 48 हजार रुपये से झारखंड के तीन श्रमिकों का हवाई किराया चुका कर उन्हें नोएडा से झारखंड भेजने में मदद की। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एक ट्वीट में कहा, “नोएडा की 12 वर्षीय निहारिका की संवेदनशीलता के लिए आभार और उसके उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं।”

Noida Girl Niharika Dwivedi As Sent Jharkhand Migrant Workers Via Plane :

आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि नोएडा की 12 वर्षीय निहारिका द्विवेदी ने तीन प्रवासी श्रमिकों को हवाई मार्ग से झारखंड भेजने के लिए अपनी बचत में से 48 हजार रुपये का अंशदान किया। उन्होंने बताया कि श्रमिकों को झारखंड पहुंचाने में यह मदद करते हुए निहारिका ने कहा, “समाज ने हमें बहुत कुछ दिया है और इस संकट में उसे वापस करना हमारी जिम्मेदारी है।”


वहीं इस मामले को लेकर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी ट्वीट कर अपनी प्रतिकृया दी है। भूपेश बघेल ने ट्वीट कर कहा, “नेकी की कोई उम्र नहीं होती, बिटिया को ढेर सारा आशीष।”

नई दिल्ली। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने नोएडा की एक बारह साल की लड़की का आभार व्यक्त किया है, जिसने अपनी जेब खर्च के 48 हजार रुपये से झारखंड के तीन श्रमिकों का हवाई किराया चुका कर उन्हें नोएडा से झारखंड भेजने में मदद की। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एक ट्वीट में कहा, "नोएडा की 12 वर्षीय निहारिका की संवेदनशीलता के लिए आभार और उसके उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं।" आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि नोएडा की 12 वर्षीय निहारिका द्विवेदी ने तीन प्रवासी श्रमिकों को हवाई मार्ग से झारखंड भेजने के लिए अपनी बचत में से 48 हजार रुपये का अंशदान किया। उन्होंने बताया कि श्रमिकों को झारखंड पहुंचाने में यह मदद करते हुए निहारिका ने कहा, "समाज ने हमें बहुत कुछ दिया है और इस संकट में उसे वापस करना हमारी जिम्मेदारी है।" वहीं इस मामले को लेकर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी ट्वीट कर अपनी प्रतिकृया दी है। भूपेश बघेल ने ट्वीट कर कहा, "नेकी की कोई उम्र नहीं होती, बिटिया को ढेर सारा आशीष।"