1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. किसान आंदोलन: पांचवे दौरे की वार्ता विफल होने के बाद सिंधु बॉर्डर पर बढ़ाई गई फोर्स

किसान आंदोलन: पांचवे दौरे की वार्ता विफल होने के बाद सिंधु बॉर्डर पर बढ़ाई गई फोर्स

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का आंदोलन जारी है। वह लगातर इसको लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों के आंदोलन का आज 11वां दिन है। दिल्ली-हरियाणा पर स्थित सिंधु बॉर्डर पर हजारों किसानों की भीड़ पिछले 10 दिनों से 24 घंटे से दिन रात डटी है। किसानों का प्रदर्शन गाजीपुर बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर पर भी जारी है।

पढ़ें :- Corona new variant: सीएम योगी बोले-दूसरे देशों से आ रहे हर व्यक्ति की जांच की जाए

इसके अलावा बुराडी ग्राउंड पर भी कुछ किसान प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों और सरकार के बीच 5 राउंड की बात हो चुकी लेकिन बातचीत में कोई हल नहीं निकाला। किसान संगठन लगातार नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं। अब किसानों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का ऐलान किया है।

इसी के साथ सबकी निगाहें अब 9 दिसंबर को सरकार के साथ होने वाली किसानों पर बातचीत पर टिकी है। वहीं, केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने आरोप लगाया है कि विपक्ष किसानों को भड़का रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों को समझना चाहिए कैसे इस मुद्दे का राजनीतिकरण किया जा रहा है, और उन्हें राजनीतिक फायदे के लिए काम कर रहे लोगों का शिकार नहीं होना चाहिए। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार ने स्पष्ट किया है कि MSP की व्यवस्था जारी रहेगी।

 

 

पढ़ें :- Weather Update : उत्तर भारत में दिसंबर के पहले हफ्ते में बारिश से बढ़ेगी ठंड

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...