नोएडा में अरबों की ठगी करनी वाली कंपनी के मालिक से पुलिस ने वसूले थे 36 लाख

नई दिल्ली| 37 अरब की ऑनलाइन ठगी करने वाले अनुभव मित्तल की तर्ज पर लोगों को पांच सौ करोड़ का चूना लगाने वाले वेबवर्क कंपनी के मालिक अनुराग गर्ग और संदेश वर्मा ने उत्तर प्रदेश पुलिस के दो दरोगा को 36 लाख रुपये देने की बात कही है| अनुराग गर्ग ने बताया कि पुलिस वालों ने उन्हें जेल भेजने का डर दिखाकर इन रुपयों की वसूली की थी|




अनुराग ने बताया कि दोनों पुलिस वाले सुधांशु गुप्ता नाम के सख्श को उनके नोएडा स्थित दफ्तर लाए थे| दोनों ने वेबवर्क के खिलाफ केस दर्ज करने और उन्हें जेल भेजने का डर दिखाया| अनुराग ने बताया कि उसने कार्यवाई से बचने के लिए सुधांशु गुप्ता के नाम से 36 लाख का ड्राफ्ट सिटी बैंक से बनवाकर दे दिया| डॉफ्ट सुधांशु गुप्ता के खाते में जमा किया गया, जिसमें से मोटी रकम दोनों दरोगा ने ली| एक दरोगा हापुड़ और दूसरा संभल जिले में तैनात बताया जा हैं| पुलिस का कहना है कि अगर दोनों दरोगा के खिलाफ वेबवर्क कंपनी की ओर से शिकायत की जाती है तो उनपर कार्यवाई की जाएगी|




बता दें कि मेरठ के नेहरू नगर में रहने वाले अनुराग गर्ग ने सितंबर 2017 में वेबवर्क कंपनी स्थापित की| बतौर निदेशक वह कंपनी से दो लाख रुपये महीने सैलरी लेता था| वहीँ, दूसरा आरोपी संदेश वर्मा मूलरूप से मुजफ्फरनगर के गांव बरला का रहने वाला है और दिल्ली के लाजपत नगर स्थित अमर कॉलोनी में रहता है| वह भी कंपनी में निदेशक था और कंपनी से दो लाख रुपये सैलरी के रूप में लेता था| वेबवर्क ने सितंबर 2017 में काम शुरू किया था| सिर्फ 5 महीने में उसका कारोबार 500 करोड़ रुपए से ज्यादा हो गया था|