1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. किडनी ट्रान्सप्लांट के नाम पर झांसा देकर ठगने वाले गैंग का नोएडा पुलिस ने किया पर्दाफास, करोड़ो की कर चुके है ठगी

किडनी ट्रान्सप्लांट के नाम पर झांसा देकर ठगने वाले गैंग का नोएडा पुलिस ने किया पर्दाफास, करोड़ो की कर चुके है ठगी

उत्तर प्रदेश के नोएडा समेत एनसीआर में किडनी ट्रांसप्लांट के नाम पर धोखादेकर लोगो को ठगने वाले गिरोह के तीन सदस्यो को गिरफ्तार करके नोएडा पुलिस ठगी के इस गैंग का पर्दाफास किया है। आरोपी के कई अन्य साथी भी है पुलिस जिनकी तलाश कर रही है। पकड़े गए आरोपी सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म के माध्यम से अब तक बहुत से लोगो से करोड़ो रुपये की ठगी को अंजाम दे चुके है।

By Sachin 
Updated Date

उत्तर प्रदेश के नोएडा समेत एनसीआर में किडनी ट्रांसप्लांट के नाम पर धोखादेकर लोगो को ठगने वाले गिरोह के तीन सदस्यो को गिरफ्तार करके नोएडा पुलिस ठगी के इस गैंग का पर्दाफास किया है। आरोपी के कई अन्य साथी भी है पुलिस जिनकी तलाश कर रही है। पकड़े गए आरोपी सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म के माध्यम से अब तक बहुत से लोगो से करोड़ो रुपये की ठगी को अंजाम दे चुके है।

पढ़ें :- नौतनवा:सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बीच हर्षोल्लास के साथ 74वॉ गणतंत्र दिवस और बसंत पंचमी मना

9 लाख 80 हजार ठगने की शिकायत पर कर रही थी पुलिस तलाश

जानकारी के अनुसार नोएडा सेक्टर-116 निवासी सुजीत यादव को अपनी पत्नी लवी यादव का किडनी ट्रांसप्लांट कराना था। इसके लिए उन्होने अपने व्हाटसऐप पर डीपी लगाई थी। जिसके बाद उनके पास एक व्यक्ति ने फोन किया और बताया कि वह कानूनी तरह से किडनी ट्रांसप्लांट कराता है। आरोपी ने इसका पूरा खर्चा 23 लाख रुपये बताया। आरोपी युवक ने उनसे नोएडा में मुलाकात की और अपनी बातो में उलझा लिया। आरोपी ने उन्हे किडनी ट्रांसप्लांट के फर्जी कागजात भी दिखाये और विभिन्न बहाने बनाकर उनसे 9 लाख 80 हजार रुपये अपने खातो में डलवा लिये। इसके बाद आरोपी ने अपना नंबर बंद कर लिया। पीड़ित को ठगी की जानकारी हुई तो पीड़ित सुजीत यादव ने नोएडा सेक्टर-63 में मामले की शिकायत की थी। पुलिस तभी से आरोपियो की तलाश कर रही थी।

करोड़ो रुपये की ठगी कर चुके है आरोपी
सेक्टर-63 थाना पुलिस के अनुसार शनिवार को पुलिस टीम ने एक सूचना के आधार पर नोएडा सेक्टर 63 एच ब्लॉक से इस गैंग में शामिल तीन ठगो को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार पकड़े गए आरोपियो की पहचान मैलगंज, लखीमपुर खीरी निवासी शिवम उर्फ अविनाश, पटेल नगर देहरादून, उत्तराखंड निवासी प्रवीन कश्यप और बिलकिस गंज, सिहोर, मध्य प्रदेश निवासी अनुज पाण्डेय उर्फ अन्नू के रुप में हुई है। पकड़े गए आरोपियो के अन्य साथियो के बारे में पुलिस जानकारी जुटा रही है। आरोपियो ने हाल ही में सुजीत यादव से 9 लाख 80 हजार रुपये और एक अन्य व्यक्ति स्वर्णाभ शुक्ला से भी इसी तरह से 15 लाख रुपये की ठगी की थी। इस गैंग के आरोपी अब तक करोड़ो रुपये की ठगी कर चुकें है।

पढ़ें :- नौतनवा:भाजपा नेता के घर पर चले बुलडोजर मामले में फिर पहुंचे एसडीएम,ली जानकारी

सोशल मीडिया का लेते थे सहारा
पकड़े गए आरोपियो ने पुलिस पूछताछ में बताया कि ये लोग फेसबुक, व्हाटसऐप समेत अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से किडनी ट्रान्सप्लान्ट से सम्बन्धित ग्रुप बनाते थे और जिन व्यक्तियों को किडनी की जरूरत होती थी, वह इन ग्रुप के माध्यम से हम लोगों के सम्पर्क आ जाते थे। इसके बाद ये लोग जरुतमंदो से संपर्क करते थे और उन्हे अपने जाल में फंसाते थे। आरोपी गैंग लोगो को विश्वास में लेकर फर्जी मेडिकल दस्तावेज तैयार कर भोले-भाले लोगों से करोड़ो रूपये की ठगी कर चुके है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...