1. हिन्दी समाचार
  2. वाह रे यूपी पुलिस! पीड़िता को इंसाफ देने के बजाय भाई पर दर्ज किया जानलेवा हमले का मुकदमा

वाह रे यूपी पुलिस! पीड़िता को इंसाफ देने के बजाय भाई पर दर्ज किया जानलेवा हमले का मुकदमा

Noida Police Ka Karnama

By पर्दाफाश समूह 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की नोएडा पुलिस की संवेदनहीनता का एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां पीड़ित पत्नी को इंसाफ देने के बजाय पुलिस ने उसके परिवार के खिलाफ ही मुकदमा दर्ज कर कटघरे में खड़ा कर दिया है। पीड़िता इंसाफ के लिए महिला प्रकोष्ठ से लेकर थाने के चक्कर काट रही है। मामला गौतमबुद्ध नगर के दनकौर कोतवाली का है।

पढ़ें :- बीजेपी ने जारी की लालू राज की डिक्शनरी....क से क्राइम, ख से खतरा, ग से गोली...

मूलरूप से बिहार के मुजफ्फरपुर के रहने वाले अबशार पाशा ने अपनी बहन कायनात की शादी चार माह पहले साहिल से की थी। साहिल दिल्ली में निजी कंपनी में कार्यरत है। पीड़िता का आरोप है कि शादी के कुछ दिन बाद ही ससुरालीजनों ने उसे दहेज के लिए प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। इसी बात को लेकर पति साहिल ने कई बार उसे बुरी तरह पीटा। हद तो तब हो गयी जब पीड़िता के ससुराल वालों ने उसे एक कमरे में बंद कर दिया और खाना तक नहीं दिया।

पीड़िता का कहना है कि 8 जून को साहिल ने उसे रात में घर बाहर निकाल दिया। जिसके बाद पीड़िता ने अपने भाई अबशार को फोन किया और परिजन मामले की शिकायत दर्ज कराने दनकौर कोतवाली पहुंचे, जहां पुलिस ने शिकायत दर्ज करने की बात कहकर मामले को टालने की कोशिश की।

वहीं पीड़िता का कहना है कि साहिल ने इससे पहले भी शादी की थी, उसके साथ भी इन लोगों ने ऐसा ही बर्ताव कर घर से निकाल दिया था। हालांकि पहली पत्नी से उसने अभी तक तलाक भी नहीं लिया है। पीड़िता के भाई के मुताबिक, उन्हे इस बारे में जानकारी तब हुई जब बहन की शादी हो गयी।

पीड़िता के भाई पर दर्ज करा दिया मुकदमा

पढ़ें :- संजय सिंह ने बोला यूपी सरकार पर हमला, कहा-सत्ता में आए तो दिल्ली मॉडल उत्तर प्रदेश में लागू होगा

पीड़िता के भाई का कहना है कि साहिल ने साजिश के तहत उल्टा उन्ही लोगों पर जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज करा दिया। आरोप है कि पुलिस ने बिना छानबीन के साहिल की एफ़आईआर दर्ज कर पीड़ित परिवार को ही परेशान करना शुरू कर दिया। उनका कहना है कि शिकायत में लिखी गयी तारीख के दिन वो लोग कोतवाली में ही पूरे दिन मौजूद रहे। पुलिस ने बिना दूसरे पक्ष के बयान के एक तरफा कार्रवाई की है।

लगातार धमकी दे रहे ससुरालीजन

पीड़िता का कहना है कि शिकायत वापस लेने को लेकर ससुराल वाले उन्हे लगातार धमकी दे रहे हैं। फिलहाल पीड़िता इंसाफ के लिए पुलिस और महिला प्रकोष्ठ के चक्कर काट रही है और पुलिस कार्रवाई की बात कहकर अपना पल्ला झाड रही है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...