लखनऊ सीट से कई प्रत्याशियों के नामांकन किये गये खारिज, सिर्फ 15 उम्मीदवार ही बचे

d

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तरह दिखने वाले प्रत्याशियों का लखनऊ लोकसभा सीट से किया गया नामांकन रद्द कर दिया गया है। नरेंद्र मोदी की तरह बनकर नामांकन दाखिल करने वाले अभिनंदन पाठक ने कई जरूरी कॉलम खाली छोड़ दिए थे इसलिए उनका नामांकन निरस्त हो गया। योगी आदित्यनाथ की तरह वेशभूषा रखकर मौलिक अधिकार पार्टी से नामांकन कराने वाले सुरेश ठाकुर का नामांकन इसलिए खारिज कर दिया गयाए क्योंकि उन्हें सरकारी नौकरी से बर्खास्त किया गया था और वह पांच साल तक कोई चुनाव नहीं लड़ सकते हैं।

Nominations Of Many Candidates Cancelled From Lukcnow Seat :

जिला निर्वाचन अधिकारी ने शनिवार को नामांकन पत्रों की जांच में 51 उम्मीदवारों के पर्चे खारिज कर दिए। इनमें लखनऊ सीट से 37 उम्मीदवार और मोहनलालगंज से 14 प्रत्याशियों के पर्चे निरस्त किए गए हैं। उम्मीदवारों ने पर्चों के खारिज होने पर नाराजगी जताते हुए प्रदर्शन भी किया। हालांकि उनकी आपत्तियां खारिज कर दी गईं। अब जांच के बाद लखनऊ से 15 उम्मीदवार मैदान में बचे हैं। मोहनलालगंज संसदीय सीट से 12 प्रत्याशियों के नामांकन सही पाए जाने के बाद स्वीकार किए गए हैं। नामांकन पत्र भरते समय अधिसंख्य प्रत्याशियों ने कई गलतियां कीं। उनको रिटर्निंग अफसर की तरफ से चेकलिस्ट सौंपी गई जिसमें कमियों का उल्लेख था।

बावजूद इसके किसी ने कई कोष्ठक खाली छोड़ दिए। किसी ने सही जानकारी नहीं भरी। किसी ने एक कमी दूर कर ली तो दूसरे कागजात में कोई नई गलती कर दी। लखनऊ में 51 प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किया था। कुछ ने तीन से चार सेट में दाखिल किया। उनमें से 37 के पर्चे खारिज हो गए। इसी तरह मोहनलालगंज में 26 उम्मीदवारों में से 14 के नामांकन खारिज किए गए। बता दें कि लखनऊ सीट से राजनाथ सिंह, पूनम सिन्हा, आचार्य प्रमोद कृष्णम सहित कई दिग्गज मैदान में हैं।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी राकेश कुमार का नामांकन भी खारिज कर दिया है। उन्होंने नियमानुसार चार शपथपत्र की जगह दो ही शपथपत्र अपने नामांकन पत्र के साथ दाखिल किए थे। डीएम कौशल राज शर्मा ने बताया कि सोमवार तक नामांकन पत्र वापस लेने का समय है। उसके बाद चुनाव लडऩे वाले प्रत्याशियों की अंतिम सूची जारी कर दी जाएगी।

अब बीजेपी से राजनाथ सिंह, कांग्रेस से आचार्य प्रमोद कृष्णम, समाजवादी पार्टी से पूनम शत्रुघ्न सिन्हा, सर्वोदय भारत पार्टी से गिरीश नारायण पांडे, साफ पार्टी गनेश चौधरी, मेरा अधिकारी राष्ट्रीय दल से कपिल मोहन चौधरी, इंडियन नेशनल लीग से मो फहीम, अखिल भारतीय जनसंघ से अमर कुमार रायजादा, निर्दलीय प्रत्याशी अविनाश चंद्र जैन, आवामी समता पार्टी से राम सागर, डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया से देव नारायन सिंह, ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक से रमेश, नागरिक एकता पार्टी से शमीम खान, निर्दलीय प्रत्याशी जिमींदार सिंह यादव और संजय सिंह राणा शामिल हैं।

प्रत्याशियों पर कैंची चलने के बाद अब प्रशासन की चुनावी टेंशन भी दूर हो गई है। अब हर बूथ पर एक ईवीएम और एक वीवीपैट लगवाकर मतदान करवाया जाएगा। प्रत्याशियों की संख्या अधिक होती तो प्रशासन को हर बूथ पर कम से कम दो दो ईवीएम व वीवीपैट लगानी पड़ती।

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तरह दिखने वाले प्रत्याशियों का लखनऊ लोकसभा सीट से किया गया नामांकन रद्द कर दिया गया है। नरेंद्र मोदी की तरह बनकर नामांकन दाखिल करने वाले अभिनंदन पाठक ने कई जरूरी कॉलम खाली छोड़ दिए थे इसलिए उनका नामांकन निरस्त हो गया। योगी आदित्यनाथ की तरह वेशभूषा रखकर मौलिक अधिकार पार्टी से नामांकन कराने वाले सुरेश ठाकुर का नामांकन इसलिए खारिज कर दिया गयाए क्योंकि उन्हें सरकारी नौकरी से बर्खास्त किया गया था और वह पांच साल तक कोई चुनाव नहीं लड़ सकते हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी ने शनिवार को नामांकन पत्रों की जांच में 51 उम्मीदवारों के पर्चे खारिज कर दिए। इनमें लखनऊ सीट से 37 उम्मीदवार और मोहनलालगंज से 14 प्रत्याशियों के पर्चे निरस्त किए गए हैं। उम्मीदवारों ने पर्चों के खारिज होने पर नाराजगी जताते हुए प्रदर्शन भी किया। हालांकि उनकी आपत्तियां खारिज कर दी गईं। अब जांच के बाद लखनऊ से 15 उम्मीदवार मैदान में बचे हैं। मोहनलालगंज संसदीय सीट से 12 प्रत्याशियों के नामांकन सही पाए जाने के बाद स्वीकार किए गए हैं। नामांकन पत्र भरते समय अधिसंख्य प्रत्याशियों ने कई गलतियां कीं। उनको रिटर्निंग अफसर की तरफ से चेकलिस्ट सौंपी गई जिसमें कमियों का उल्लेख था। बावजूद इसके किसी ने कई कोष्ठक खाली छोड़ दिए। किसी ने सही जानकारी नहीं भरी। किसी ने एक कमी दूर कर ली तो दूसरे कागजात में कोई नई गलती कर दी। लखनऊ में 51 प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किया था। कुछ ने तीन से चार सेट में दाखिल किया। उनमें से 37 के पर्चे खारिज हो गए। इसी तरह मोहनलालगंज में 26 उम्मीदवारों में से 14 के नामांकन खारिज किए गए। बता दें कि लखनऊ सीट से राजनाथ सिंह, पूनम सिन्हा, आचार्य प्रमोद कृष्णम सहित कई दिग्गज मैदान में हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी ने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी राकेश कुमार का नामांकन भी खारिज कर दिया है। उन्होंने नियमानुसार चार शपथपत्र की जगह दो ही शपथपत्र अपने नामांकन पत्र के साथ दाखिल किए थे। डीएम कौशल राज शर्मा ने बताया कि सोमवार तक नामांकन पत्र वापस लेने का समय है। उसके बाद चुनाव लडऩे वाले प्रत्याशियों की अंतिम सूची जारी कर दी जाएगी। अब बीजेपी से राजनाथ सिंह, कांग्रेस से आचार्य प्रमोद कृष्णम, समाजवादी पार्टी से पूनम शत्रुघ्न सिन्हा, सर्वोदय भारत पार्टी से गिरीश नारायण पांडे, साफ पार्टी गनेश चौधरी, मेरा अधिकारी राष्ट्रीय दल से कपिल मोहन चौधरी, इंडियन नेशनल लीग से मो फहीम, अखिल भारतीय जनसंघ से अमर कुमार रायजादा, निर्दलीय प्रत्याशी अविनाश चंद्र जैन, आवामी समता पार्टी से राम सागर, डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया से देव नारायन सिंह, ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक से रमेश, नागरिक एकता पार्टी से शमीम खान, निर्दलीय प्रत्याशी जिमींदार सिंह यादव और संजय सिंह राणा शामिल हैं। प्रत्याशियों पर कैंची चलने के बाद अब प्रशासन की चुनावी टेंशन भी दूर हो गई है। अब हर बूथ पर एक ईवीएम और एक वीवीपैट लगवाकर मतदान करवाया जाएगा। प्रत्याशियों की संख्या अधिक होती तो प्रशासन को हर बूथ पर कम से कम दो दो ईवीएम व वीवीपैट लगानी पड़ती।