नोरा फतेही: भारत में विदेशियों का जीवन काफी कठिन होता है, इस बात को मैंने तब समझा जब मेरे साथ……

nora fatehi
नोरा फतेही : 'भारत में विदेशियों का जीवन काफी कठिन होता है, इस बात को मैंने तब समझा जब मेरे साथ भी......'

मुंबई। ‘दिलबर’ गाने से अपनी ज़बरदस्त पहचान बनाने वाली नोरा फतेही अपने डांस से सबका दिल जीत चुकी है। मगर बॉलीवुड में आने का उनका ये सफर इतना आसान नहीं रहा है। इस सफर को तय करने के लिए उन्होंने कई मुश्किलों का सामना किया है। भारत में आने के बाद उनके साथ क्या-क्या हुआ और उन्होंने किस तरह से सब कुछ सहन किया इस बात का खुलासा नोरा ने एक इंटरव्यू के दौरान किया।

Nora Fatehi The Life Of Foreigners In India Is Very Difficult I Have Understood This Thing When Even With Me :

नोरा ने बातचीत के दौरान उन्होंने कहा, “भारत में विदेशियों का जीवन काफी कठिन होता है। हम कई चीजों से गुजरते हैं, जिनके बारे में लोग जानते भी नहीं हैं। इतना ही नहीं, वह हमारे पैसे भी ले लेते हैं। ऐसा मेरे साथ भी हुआ है। मुझे याद है अपनी पहली एजेंसी, जो मुझे कनाडा से यहां मिली थी। वह अपने व्यवहार के मामले में काफी आक्रामक थे और मुझे ऐसा महसूस भी होता था कि मुझ सही तरीके से गाइड नहीं किया जा रहा है। ऐसे में मैंने उस एजेंसी को छोड़ना चाहा, लेकिन उन्होंने मुझसे कहा कि हम आपके पैसे वापस नहीं करेंगे। उस समय मैंने अपने 20 लाख खो दिये, जिन्हें मैंने विज्ञापन कैंपेन से कमाए थे।”

इतना ही नहीं नोरा ने आगे कहा, “”पैसे खोना तो केवल एक बात है। जिस फ्लैट में मैं रह रही थी, वहां मेरे साथ आठ और लड़कियां और रहती थी जिन्होंने मुझे पागल कर दिया था, बल्कि उनमें से किसी ने मेरा पासपोर्ट भी चुरा लिया था।” उन्होंने बताया कि मुझे हिन्दी ना आने की वजह से मेरा मज़ाक उड़ाया जाता था ऐसा लगता था कि कई बार लोग मेरी इस कमी की वजह से मेरे सामने हंसते थे, जिससे ऐसा लगता था कि मैं सर्कस का हिस्सा हूं। फिर बाद में मैंने हिंदी सीखनी शुरू किया, लेकिन मैं इसके लिए पूरी तरह से तैयार नहीं थी।

साथ ही नोरा ने अपने करियर से जुड़ी भी एक ऐसी बात बताई जिसे वो कभी भूल नहीं सकती। नोरा ने कहा, “”करियर के शुरुआत में मुझे एक कास्टिंग एजेंट ने कहा था, हमें यहां आपकी जरूरत नहीं है। आप वापस जाओ।” पर मैंने हार नहीं मानी और अपने करियर के लिए मेहनत करती रही।

मुंबई। 'दिलबर' गाने से अपनी ज़बरदस्त पहचान बनाने वाली नोरा फतेही अपने डांस से सबका दिल जीत चुकी है। मगर बॉलीवुड में आने का उनका ये सफर इतना आसान नहीं रहा है। इस सफर को तय करने के लिए उन्होंने कई मुश्किलों का सामना किया है। भारत में आने के बाद उनके साथ क्या-क्या हुआ और उन्होंने किस तरह से सब कुछ सहन किया इस बात का खुलासा नोरा ने एक इंटरव्यू के दौरान किया। नोरा ने बातचीत के दौरान उन्होंने कहा, "भारत में विदेशियों का जीवन काफी कठिन होता है। हम कई चीजों से गुजरते हैं, जिनके बारे में लोग जानते भी नहीं हैं। इतना ही नहीं, वह हमारे पैसे भी ले लेते हैं। ऐसा मेरे साथ भी हुआ है। मुझे याद है अपनी पहली एजेंसी, जो मुझे कनाडा से यहां मिली थी। वह अपने व्यवहार के मामले में काफी आक्रामक थे और मुझे ऐसा महसूस भी होता था कि मुझ सही तरीके से गाइड नहीं किया जा रहा है। ऐसे में मैंने उस एजेंसी को छोड़ना चाहा, लेकिन उन्होंने मुझसे कहा कि हम आपके पैसे वापस नहीं करेंगे। उस समय मैंने अपने 20 लाख खो दिये, जिन्हें मैंने विज्ञापन कैंपेन से कमाए थे।" इतना ही नहीं नोरा ने आगे कहा, ""पैसे खोना तो केवल एक बात है। जिस फ्लैट में मैं रह रही थी, वहां मेरे साथ आठ और लड़कियां और रहती थी जिन्होंने मुझे पागल कर दिया था, बल्कि उनमें से किसी ने मेरा पासपोर्ट भी चुरा लिया था।" उन्होंने बताया कि मुझे हिन्दी ना आने की वजह से मेरा मज़ाक उड़ाया जाता था ऐसा लगता था कि कई बार लोग मेरी इस कमी की वजह से मेरे सामने हंसते थे, जिससे ऐसा लगता था कि मैं सर्कस का हिस्सा हूं। फिर बाद में मैंने हिंदी सीखनी शुरू किया, लेकिन मैं इसके लिए पूरी तरह से तैयार नहीं थी। साथ ही नोरा ने अपने करियर से जुड़ी भी एक ऐसी बात बताई जिसे वो कभी भूल नहीं सकती। नोरा ने कहा, ""करियर के शुरुआत में मुझे एक कास्टिंग एजेंट ने कहा था, हमें यहां आपकी जरूरत नहीं है। आप वापस जाओ।" पर मैंने हार नहीं मानी और अपने करियर के लिए मेहनत करती रही।