अमेरिका को भोला-भाला न समझे उत्तर कोरिया : व्हाइट हाउस

उत्तर कोरिया
अमेरिका को भोला-भाला न समझे उत्तर कोरिया : व्हाइट हाउस

वाशिंगटन। व्हाइट हाउस ने कहा कि उत्तर कोरिया अमेरिका को भोला-भाला न समझे। वह जब तक अपने परमाणु और मिसाइल कायक्रमों का विखंडन करने की ओर कदम नहीं उठाता, तब तक अमेरिका उसे कोई रियायत नहीं देगा। यह जानकारी व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा हुकाबी सैंडर्स ने दी।

North Korea America White House :

सूत्रों के मुताबिक, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया द्वारा इस सप्ताहांत से पहले अपने परमाणु और मिसाइल परीक्षणों पर रोक लगाने के फैसले को प्रगति का सूचक माना था। लेकिन सोमवार को सारा सैंडर्स ने जोर देकर कहा कि अमेरिका इस प्रक्रिया में भोला-भाला रवैया नहीं अपनाएगा और पिछले प्रशासन द्वारा की गई गलतियों को नहीं दोहराएगा।

उन्होंने कहा- हम उत्तर कोरिया को उसके शब्दों की तरह नहीं लेंगे। हमारा लक्ष्य प्रायद्वीप को परमाणु मुक्त होते देखना है और हम अपना अधिक दबाव अभियान तब तक जारी रखेंगे, जब तक हम उत्तर कोरिया को पूर्ण रूप से परमाणु मुक्ति की ओर ठोस कदम उठाते नहीं देख लेते। सारा ने कहा, “हम इस प्रक्रिया में सीधे-साधे बनकर नहीं रहेंगे। हमने कुछ कदम सही दिशा में देखे हैं, लेकिन हमें अभी बहुत लंबा रास्ता तय करना है।”

जब उनसे पूछा गया कि इस बढ़ती प्रगति को देखते हुए क्या अमेरिका कुछ प्रतिबंधों को वापस लेना जारी रखेगा, सारा ने फिर से कहा कि कोई भी प्रतिबंध तब तक नहीं हटाया जाएगा, जब तक हम उत्तर कोरिया द्वारा परमाणु मुक्त होने की ओर ठोस कदम उठाते हुए नहीं देख लेते।

वाशिंगटन। व्हाइट हाउस ने कहा कि उत्तर कोरिया अमेरिका को भोला-भाला न समझे। वह जब तक अपने परमाणु और मिसाइल कायक्रमों का विखंडन करने की ओर कदम नहीं उठाता, तब तक अमेरिका उसे कोई रियायत नहीं देगा। यह जानकारी व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा हुकाबी सैंडर्स ने दी।सूत्रों के मुताबिक, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया द्वारा इस सप्ताहांत से पहले अपने परमाणु और मिसाइल परीक्षणों पर रोक लगाने के फैसले को प्रगति का सूचक माना था। लेकिन सोमवार को सारा सैंडर्स ने जोर देकर कहा कि अमेरिका इस प्रक्रिया में भोला-भाला रवैया नहीं अपनाएगा और पिछले प्रशासन द्वारा की गई गलतियों को नहीं दोहराएगा।उन्होंने कहा- हम उत्तर कोरिया को उसके शब्दों की तरह नहीं लेंगे। हमारा लक्ष्य प्रायद्वीप को परमाणु मुक्त होते देखना है और हम अपना अधिक दबाव अभियान तब तक जारी रखेंगे, जब तक हम उत्तर कोरिया को पूर्ण रूप से परमाणु मुक्ति की ओर ठोस कदम उठाते नहीं देख लेते। सारा ने कहा, "हम इस प्रक्रिया में सीधे-साधे बनकर नहीं रहेंगे। हमने कुछ कदम सही दिशा में देखे हैं, लेकिन हमें अभी बहुत लंबा रास्ता तय करना है।"जब उनसे पूछा गया कि इस बढ़ती प्रगति को देखते हुए क्या अमेरिका कुछ प्रतिबंधों को वापस लेना जारी रखेगा, सारा ने फिर से कहा कि कोई भी प्रतिबंध तब तक नहीं हटाया जाएगा, जब तक हम उत्तर कोरिया द्वारा परमाणु मुक्त होने की ओर ठोस कदम उठाते हुए नहीं देख लेते।