कोरोना महामारी के बीच उत्‍तर कोरिया ने किया मिसाइल परीक्षण

koria
कोरोना महामारी के बीच उत्‍तर कोरिया ने किया मिसाइल परीक्षण

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस (Coronavirus) ने कहर बरपा रखा है, लेकिन उत्तर कोरिया इस बीच भी मिसाइल परीक्षण में जुटा हुआ है। वहीं नॉर्थ कोरिया (North Korea) ने एक बार फिर मिसाइल परीक्षण कर दुनिया को हैरत में डाल दिया है। उत्तर कोरिया ने रविवार समुद्र में दो संदिग्ध बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया। उधर दक्षिण कोरिया (South Korea) ने इस मिसाइल परीक्षण को ‘अनुचित’ बताया है। नॉर्थ कोरिया सिर इस महीने में ही 8 मिसाइल दाग चुका है।  

North Korea Tested Missile While Whole World Suffering From Coronavirus :

इस पूरे मामले पर दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने कहा, “रविवार की सुबह उत्तर कोरिया के पूर्वी तटीय शहर वोनसान से निकली मिसाइलें कोरियाई प्रायद्वीप और जापान के बीच समुद्र में गिरते हुए देखी गईं।” उन्होंने आगे कहा, “मिसाइलों की अधिकतम ऊंचाई 30 किलोमीटर थी, जो करीब 230 किलोमीटर तक सफर करते हुए देखी गईं।”

उत्तर कोरिया की इस कार्रवाई पर दक्षिण कोरिया और अमेरिका के खुफिया अधिकारी अपने नजरे बनाए हुए हैं। ऐसे में मिसाइलों के परीक्षण और मिली जानकारियों का विश्लेषण किया जा रहा है। उत्तर कोरिया की इस पूरी कार्रवाई को सेना की तरफ से गलत ठहराया गया है और साथ ही महामारी के इस दौर में ऐसे परिक्षण को रोकने के लिए आग्रह किया है। दरअसल उत्तर कोरिया के शासक ‘किम जोंग उन’ खुद इन चीजों को बढ़ चढ़ कर बढ़ावा देते हैं। ऐसे में पूरी दुनिया भर में ‘किम जोंग उन’ की छवि एक सरफिरे तानाशाह की है।

यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि उत्तर कोरिया की तरफ से कोरोनावायरस या कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए कई अजीब और आक्रमक अभियान चलाए जाते रहे हैं। उत्तर कोरिया यह दावा करता रहा है कि उसके देश में कोरोना वायरस का एक भी मामला नहीं है। हालांकि, विशेषज्ञों का कहना है कि उत्तर कोरिया दुनिया को सच नहीं बता रहा है। ऐसे में विशेषज्ञों का यह भी कहना है कि उत्तर कोरिया में इस वायरस से हालात बहुत खराब हो सकते हैं, क्योंकि उसके पास चिकित्सा सामग्री की कमी है और वहां की स्वास्थ्य सेवा प्रणाली बेहद ही खराब है।  
 

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस (Coronavirus) ने कहर बरपा रखा है, लेकिन उत्तर कोरिया इस बीच भी मिसाइल परीक्षण में जुटा हुआ है। वहीं नॉर्थ कोरिया (North Korea) ने एक बार फिर मिसाइल परीक्षण कर दुनिया को हैरत में डाल दिया है। उत्तर कोरिया ने रविवार समुद्र में दो संदिग्ध बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया। उधर दक्षिण कोरिया (South Korea) ने इस मिसाइल परीक्षण को 'अनुचित' बताया है। नॉर्थ कोरिया सिर इस महीने में ही 8 मिसाइल दाग चुका है।   इस पूरे मामले पर दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने कहा, "रविवार की सुबह उत्तर कोरिया के पूर्वी तटीय शहर वोनसान से निकली मिसाइलें कोरियाई प्रायद्वीप और जापान के बीच समुद्र में गिरते हुए देखी गईं।" उन्होंने आगे कहा, "मिसाइलों की अधिकतम ऊंचाई 30 किलोमीटर थी, जो करीब 230 किलोमीटर तक सफर करते हुए देखी गईं।" उत्तर कोरिया की इस कार्रवाई पर दक्षिण कोरिया और अमेरिका के खुफिया अधिकारी अपने नजरे बनाए हुए हैं। ऐसे में मिसाइलों के परीक्षण और मिली जानकारियों का विश्लेषण किया जा रहा है। उत्तर कोरिया की इस पूरी कार्रवाई को सेना की तरफ से गलत ठहराया गया है और साथ ही महामारी के इस दौर में ऐसे परिक्षण को रोकने के लिए आग्रह किया है। दरअसल उत्तर कोरिया के शासक 'किम जोंग उन' खुद इन चीजों को बढ़ चढ़ कर बढ़ावा देते हैं। ऐसे में पूरी दुनिया भर में 'किम जोंग उन' की छवि एक सरफिरे तानाशाह की है। यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि उत्तर कोरिया की तरफ से कोरोनावायरस या कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए कई अजीब और आक्रमक अभियान चलाए जाते रहे हैं। उत्तर कोरिया यह दावा करता रहा है कि उसके देश में कोरोना वायरस का एक भी मामला नहीं है। हालांकि, विशेषज्ञों का कहना है कि उत्तर कोरिया दुनिया को सच नहीं बता रहा है। ऐसे में विशेषज्ञों का यह भी कहना है कि उत्तर कोरिया में इस वायरस से हालात बहुत खराब हो सकते हैं, क्योंकि उसके पास चिकित्सा सामग्री की कमी है और वहां की स्वास्थ्य सेवा प्रणाली बेहद ही खराब है।