तानाशाह किम जोंग का सौतेला भाई निकला CIA का मुखबिर

kim jon un
तानाशाह किम जोंग का सौतेला भाई निकला CIA का मुखबिर

नई दिल्ली। उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के सौतेले भाई किम जोंग नम (Kim Jong Nam) की साल 2017 में मलेशिया में हत्या कर दी गई थी। एक विदेशी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक किम जोंग-उन के सौतेले भाई किम जोंग-नैम अमेरिकी इंटेलिजेंस एजेंसी सीआईए के इन्फॉर्मर का काम करते थे और उसके एजेंटों से कई बार उनकी मुलाकात हो चुकी थी। हालांकि, मीडिया में आई इस रिपोर्ट का उत्तर कोरिया ने खंडन किया है।

North Korean Leaders Brother Was Cia Informant Report :

रिपोर्ट में कहा गया है कि CIA (Central Intelligence Agency) के साथ किम जोंग नम के संबंध के कई विवरण अभी अस्पष्ट हैं। खबरों के मुताबिक CIA ने इसपर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। एक व्यक्ति का हवाला देते हुए रिपोर्ट में कहा गया है कि CIA और किम जोंग नम के बीच सांठगांठ थी।

कई पूर्व अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि किम जोंग का सौतेला भाई कई वर्षों से उत्तर कोरिया के बाहर रहता था। उसके पास कोई शक्ति नहीं थी औऱ न ही इस बात की कोई संभावना की वह उत्तर कोरिया के आंतरिक कामकाज की जानकारी दे सके। रिपोर्ट के मुताबिक पूर्व अधिकारियों का मानना है कि किम जोंग नम कई दूसरे देशों और विशेष रूप से चीन की सुरक्षा एजेंसी के संपर्क में था।

दक्षिण कोरियाई और अमेरिकी अधिकारियों ने कहा है कि उत्तर कोरिया ने ही किम जोंग नम की हत्या का आदेश दिया था, क्योंकि ये परिवार के वंशवादी शासन के लिए बेहद जरूरी था। वहीं, प्योंगयांग ने इन आरोप से इनकार कर दिया है।

किम जोंग-नैम की हत्या 2017 में कुआलालंपुर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर कर दी गई थी। दो महिलाओं ने उनके चेहरे पर कुछ लगाया था जो संभवत: नर्व गैस थी। इसकी वजह से नाम की मौत हुई। एयरपोर्ट अधिकारियों को घटना के बारे में सूचित करने के बाद उन्हें ऐम्बुलेंस से अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

दक्षिण कोरिया एवं अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि उत्तर कोरिया के अधिकारियों ने नैम को मारने का आदेश दिया था क्योंकि वह उनके परिवार के वंशवादी शासन के लिए संकट बन गए थे। नैम और सीआईए के बीच संबंध को लेकर विस्तृत जानकारी अब तक अस्पष्ट है। ‘वॉल स्ट्रीट जर्नल’ की रिपोर्ट के अनुसार सीआईए के गुप्तचरों ने 45 वर्षीय नैम से कई मौकों पर मुलाकात की थी।

नई दिल्ली। उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के सौतेले भाई किम जोंग नम (Kim Jong Nam) की साल 2017 में मलेशिया में हत्या कर दी गई थी। एक विदेशी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक किम जोंग-उन के सौतेले भाई किम जोंग-नैम अमेरिकी इंटेलिजेंस एजेंसी सीआईए के इन्फॉर्मर का काम करते थे और उसके एजेंटों से कई बार उनकी मुलाकात हो चुकी थी। हालांकि, मीडिया में आई इस रिपोर्ट का उत्तर कोरिया ने खंडन किया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि CIA (Central Intelligence Agency) के साथ किम जोंग नम के संबंध के कई विवरण अभी अस्पष्ट हैं। खबरों के मुताबिक CIA ने इसपर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। एक व्यक्ति का हवाला देते हुए रिपोर्ट में कहा गया है कि CIA और किम जोंग नम के बीच सांठगांठ थी। कई पूर्व अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि किम जोंग का सौतेला भाई कई वर्षों से उत्तर कोरिया के बाहर रहता था। उसके पास कोई शक्ति नहीं थी औऱ न ही इस बात की कोई संभावना की वह उत्तर कोरिया के आंतरिक कामकाज की जानकारी दे सके। रिपोर्ट के मुताबिक पूर्व अधिकारियों का मानना है कि किम जोंग नम कई दूसरे देशों और विशेष रूप से चीन की सुरक्षा एजेंसी के संपर्क में था। दक्षिण कोरियाई और अमेरिकी अधिकारियों ने कहा है कि उत्तर कोरिया ने ही किम जोंग नम की हत्या का आदेश दिया था, क्योंकि ये परिवार के वंशवादी शासन के लिए बेहद जरूरी था। वहीं, प्योंगयांग ने इन आरोप से इनकार कर दिया है। किम जोंग-नैम की हत्या 2017 में कुआलालंपुर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर कर दी गई थी। दो महिलाओं ने उनके चेहरे पर कुछ लगाया था जो संभवत: नर्व गैस थी। इसकी वजह से नाम की मौत हुई। एयरपोर्ट अधिकारियों को घटना के बारे में सूचित करने के बाद उन्हें ऐम्बुलेंस से अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। दक्षिण कोरिया एवं अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि उत्तर कोरिया के अधिकारियों ने नैम को मारने का आदेश दिया था क्योंकि वह उनके परिवार के वंशवादी शासन के लिए संकट बन गए थे। नैम और सीआईए के बीच संबंध को लेकर विस्तृत जानकारी अब तक अस्पष्ट है। 'वॉल स्ट्रीट जर्नल' की रिपोर्ट के अनुसार सीआईए के गुप्तचरों ने 45 वर्षीय नैम से कई मौकों पर मुलाकात की थी।