अब चीनी मिलों में भी बनेंगे हैंड सैनिटाइजर, 45 कंपिनयों को मिला लाइसेंस

अब चीनी मिलों में भी बनेंगे हैंड सैनिटाइजर, 45 कंपिनयों को मिला लाइसेंस

नई दिल्ली। देश में बढ़ रहे कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए मोदी सरकार ताबड़तोड़ फैसले ले रही है। इसी कड़ी में केन्द्र सरकार ने एक और बड़ा फैसला लिया है, जिसके तहत डिस्टिलरी और चीनी मिलों को थोक में ‘हैंड सैनिटाइजर’ बनाने की अनुमति प्रदान की गई है, इसके लिए 45 डिस्टिलरी को पहले ही लाइसेंस हो चुका है।

Now Hand Sanitizers Will Also Be Made In Sugar Mills 45 Companies Got License :

केन्द्र ने गुरूवार को बताया कि हैंड सैनिटाइजर की मांग और आपूर्ति के बीच संतुलन बनाने के लिए राज्यों को कच्चे माल की आपूर्ति में किसी भी प्रकार की परेशानी को खत्म करने और डिस्टिलरीज सहित तमाम हैंड सैनिटाइजर बनाने वाले आवेदकों को अनुमति देने के निर्देश दिए हैं।

उपभोक्ता मामलों के सचिव पवन अग्रवाल के मुताबिक अब तक 564 अन्य विनिर्माताओं के अलावा 45 डिस्टलरी को लाइसेंस प्रदान किया गया है। उन्होंने बताया कि एक या दो दिनों में 55 से अधिक डिस्टिलरी को अनुमति प्रदान की जा सकती है, साथ ही अन्य कंपनियों को हैंड सैनिटाइजर बनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

अग्रवाल ने बताया कि दवा मूल्य नियंत्रण आदेश के अंतर्गत ये अनुमति प्रदान की जा रही है। उन्होने कहा, उत्पादन को अधिक से अधिक बढ़ाने के लिए तीन शिफ्टों में काम करने के लिए भी कहा गया है। जितना उत्पादन एक माह में किया गया था उतना एक दिन में किया जाएगा।

नई दिल्ली। देश में बढ़ रहे कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए मोदी सरकार ताबड़तोड़ फैसले ले रही है। इसी कड़ी में केन्द्र सरकार ने एक और बड़ा फैसला लिया है, जिसके तहत डिस्टिलरी और चीनी मिलों को थोक में ‘हैंड सैनिटाइजर’ बनाने की अनुमति प्रदान की गई है, इसके लिए 45 डिस्टिलरी को पहले ही लाइसेंस हो चुका है। केन्द्र ने गुरूवार को बताया कि हैंड सैनिटाइजर की मांग और आपूर्ति के बीच संतुलन बनाने के लिए राज्यों को कच्चे माल की आपूर्ति में किसी भी प्रकार की परेशानी को खत्म करने और डिस्टिलरीज सहित तमाम हैंड सैनिटाइजर बनाने वाले आवेदकों को अनुमति देने के निर्देश दिए हैं। उपभोक्ता मामलों के सचिव पवन अग्रवाल के मुताबिक अब तक 564 अन्य विनिर्माताओं के अलावा 45 डिस्टलरी को लाइसेंस प्रदान किया गया है। उन्होंने बताया कि एक या दो दिनों में 55 से अधिक डिस्टिलरी को अनुमति प्रदान की जा सकती है, साथ ही अन्य कंपनियों को हैंड सैनिटाइजर बनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। अग्रवाल ने बताया कि दवा मूल्य नियंत्रण आदेश के अंतर्गत ये अनुमति प्रदान की जा रही है। उन्होने कहा, उत्पादन को अधिक से अधिक बढ़ाने के लिए तीन शिफ्टों में काम करने के लिए भी कहा गया है। जितना उत्पादन एक माह में किया गया था उतना एक दिन में किया जाएगा।