अब मुजफ्फराबाद में रैली करेंगे इमरान खान

imran khan
अब मुजफ्फराबाद में रैली करेंगे इमरान खान

इस्लामाबाद। जम्मू—कश्मीर पर दुनिया भर में अपनी फजीहत के बाद भी पाकिस्तान सुधरने का नाम नहीं ले रहा है। अब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक ट्वीट करते कश्मीर के लिए 13 सितंबर को बड़ी रैली करने की बात कही है। बताया जा रहा है रैली पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) के मुजफ्फराबाद में आयोजित की जाएगी।

Now Imran Khan Will Rally In Muzaffarabad :

इमरान खान ने अपने ट्वीट में कहा कि ‘मैं शुक्रवार, 13 सितंबर को मुजफ्फराबाद (पीओके) में एक बड़ी रैली करूंगा ताकि भारतीय सेना द्वारा भारतीय अधिकृत कश्मीर में घेराबंदी के बारे में दुनिया को बता सकूं और बता सकूं कि पाकिस्तान कश्मीरियों के साथ खड़ा है।’

अब पाकिस्तान रैली कर दुनिया को यह संदेश देना चाहता है कि पाकिस्तान कश्मीरियों के साथ है। आपको बता दें कि एक दिन पहले ही संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार संगठन के सत्र में भी भारत ने पाकिस्तान का झूठ दुनिया के सामने उजागर किया है। यूएन में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के नेतृत्व में पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल ने जम्मू-कश्मीर पर झूठी कहानी सुनाई।

पाकिस्तान के इस झूठ का जम्मू-कश्मीर के राजनयिक विमर्श आर्यन ने तुरंत खंडन किया। पाकिस्तान को जवाब देते हुए प्रथम सचिव आर्यन ने कहा, ‘अनुच्छेद 370 भारत के संविधान का अस्थायी प्रावधान था, इसमें बदलाव करना भारत का आंतरिक मामला और अधिकार है।’

इस्लामाबाद। जम्मू—कश्मीर पर दुनिया भर में अपनी फजीहत के बाद भी पाकिस्तान सुधरने का नाम नहीं ले रहा है। अब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक ट्वीट करते कश्मीर के लिए 13 सितंबर को बड़ी रैली करने की बात कही है। बताया जा रहा है रैली पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) के मुजफ्फराबाद में आयोजित की जाएगी। इमरान खान ने अपने ट्वीट में कहा कि 'मैं शुक्रवार, 13 सितंबर को मुजफ्फराबाद (पीओके) में एक बड़ी रैली करूंगा ताकि भारतीय सेना द्वारा भारतीय अधिकृत कश्मीर में घेराबंदी के बारे में दुनिया को बता सकूं और बता सकूं कि पाकिस्तान कश्मीरियों के साथ खड़ा है।' अब पाकिस्तान रैली कर दुनिया को यह संदेश देना चाहता है कि पाकिस्तान कश्मीरियों के साथ है। आपको बता दें कि एक दिन पहले ही संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार संगठन के सत्र में भी भारत ने पाकिस्तान का झूठ दुनिया के सामने उजागर किया है। यूएन में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के नेतृत्व में पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल ने जम्मू-कश्मीर पर झूठी कहानी सुनाई। पाकिस्तान के इस झूठ का जम्मू-कश्मीर के राजनयिक विमर्श आर्यन ने तुरंत खंडन किया। पाकिस्तान को जवाब देते हुए प्रथम सचिव आर्यन ने कहा, 'अनुच्छेद 370 भारत के संविधान का अस्थायी प्रावधान था, इसमें बदलाव करना भारत का आंतरिक मामला और अधिकार है।'