अब जंग की ढोल पीट रहा पाकिस्तान, सीमा पर तैनात किए दो हजार सैनिक

indian army
अब जंग की ढोल पीट रहा पाकिस्तान, सीमा पर तैनात किए दो हजार सैनिक

नई दिल्ली। जम्मू—कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद बौखलाए पाकिस्तान ने इस मसले को लेकर दुनिया के तकरीबन सभी मजबूत देशों से मदद मांगी। हालाकि वहां से मुंह की खाने के बाद अब वो जंग का ढोल पीट रहा है। हाल ही पाकिस्तान ने भारतीय सीमा के पास अपने दो हजार से ज्यादा सैनिकों को तैनात कर दिया है।

Now Pakistan Is Beating The War Two Thousand Soldiers Deployed On The Border :

बता दें कि इससे पहले पाकिस्तान ने परमाणु युद्ध की खोखली धमकी भी दी थी, जिसके बाद अब नई पैंतरेबाजी करते हुए सीमा से सटे बाघ और कोटली सेक्टर में 2000 से ज्यादा सैनिकों को तैनात किया है। क्षेत्र एलओसी के पास पाक अधिकृत कश्मीर में स्थित है।

भारतीय सेना के सूत्रों ने जानकारी देते हुए बताया कि इन सैनिकों को बैरकों से निकालकर एलओसी के 30 किलोमीटर के दायरे में तैनात किया गया है। हालाकि भारतीय सेना भी लगातार पाकिस्तान की इस हरकत पर नजर रख रही है। पाक ने यह कदम ऐसे समय पर उठाया है जब उसके आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद ने स्थानीय और अफगानों की बड़े पैमाने पर भर्ती करनी शुरू कर दी है।

सूत्रों के अनुसार, तनाव के बीच पाकिस्तानी सेना लद्दाख के नजदीक स्थित अपनी अग्रिम चौकियों पर भारी हथियार और सैन्य साजो-सामान को एकत्रित कर रही है। पाकिस्तानी वायुसेना के तीन सी-130 हरक्यूलस परिवहन विमानों ने सैन्य साजो-सामान को गिलगित बाल्टिस्तान में स्कर्दू हवाई अड्डे पर पहुंचाया। सूत्रों के अनुसार, पाकिस्तान ने अग्रिम मोर्चे पर जो साजो-सामानों पहुंचाया है उसका उपयोग युद्ध के दौरान लड़ाकू विमानों की सहायता के लिए किया जाता है।

नई दिल्ली। जम्मू—कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद बौखलाए पाकिस्तान ने इस मसले को लेकर दुनिया के तकरीबन सभी मजबूत देशों से मदद मांगी। हालाकि वहां से मुंह की खाने के बाद अब वो जंग का ढोल पीट रहा है। हाल ही पाकिस्तान ने भारतीय सीमा के पास अपने दो हजार से ज्यादा सैनिकों को तैनात कर दिया है। बता दें कि इससे पहले पाकिस्तान ने परमाणु युद्ध की खोखली धमकी भी दी थी, जिसके बाद अब नई पैंतरेबाजी करते हुए सीमा से सटे बाघ और कोटली सेक्टर में 2000 से ज्यादा सैनिकों को तैनात किया है। क्षेत्र एलओसी के पास पाक अधिकृत कश्मीर में स्थित है। भारतीय सेना के सूत्रों ने जानकारी देते हुए बताया कि इन सैनिकों को बैरकों से निकालकर एलओसी के 30 किलोमीटर के दायरे में तैनात किया गया है। हालाकि भारतीय सेना भी लगातार पाकिस्तान की इस हरकत पर नजर रख रही है। पाक ने यह कदम ऐसे समय पर उठाया है जब उसके आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद ने स्थानीय और अफगानों की बड़े पैमाने पर भर्ती करनी शुरू कर दी है। सूत्रों के अनुसार, तनाव के बीच पाकिस्तानी सेना लद्दाख के नजदीक स्थित अपनी अग्रिम चौकियों पर भारी हथियार और सैन्य साजो-सामान को एकत्रित कर रही है। पाकिस्तानी वायुसेना के तीन सी-130 हरक्यूलस परिवहन विमानों ने सैन्य साजो-सामान को गिलगित बाल्टिस्तान में स्कर्दू हवाई अड्डे पर पहुंचाया। सूत्रों के अनुसार, पाकिस्तान ने अग्रिम मोर्चे पर जो साजो-सामानों पहुंचाया है उसका उपयोग युद्ध के दौरान लड़ाकू विमानों की सहायता के लिए किया जाता है।