1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. अब चित्रकूट में सामने आया गैंगरेप का मामला, घटना के 6वें दिन पीड़िता ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

अब चित्रकूट में सामने आया गैंगरेप का मामला, घटना के 6वें दिन पीड़िता ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

Now The Gang Rape Case Came Up In Chitrakoot The Victim Committed Suicide By Hanging On The 6th Day Of The Incident

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

चित्रकूट: उत्तर प्रदेश में अब चित्रकूट से गैंगरेप का मामला सामने आया है। घटना के 6वें दिन 14 साल की पीड़ित ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। मामला मानिकपुर थाना इलाके के सरैया चौकी के एक गांव का है। लड़की की मौत के बाद पुलिस ने एससी/एसटी एक्ट में रिपोर्ट दर्ज की है। 8 अक्टूबर को लड़की के साथ तीन लोगों ने गैंगरेप किया था। पीड़ित ने घर पर जानकारी दी, जिसके बाद माता-पिता ने सरैया चौकी में शिकायत भी की थी। तब पीड़ित के पिता ने पुलिस को कहा था कि एक-दो दिन में हम आरोपियों के नाम पता कर बता देंगे। उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। लेकिन, पुलिस ने न तो रिपोर्ट लिखी और न ही लड़की का मेडिकल कराना जरूरी समझा। इसी बीच, मंगलवार सुबह मां-बाप खेत चले गए और घर पर अकेली लड़की ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।

पढ़ें :- मुलायम सिंह यादव की हालत में कोई सुधार नहीं, अखिलेश ने की शीघ्र स्वस्थ होने की कामना

सीओ रजनीश यादव का कहना है कि एससी-एसटी एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है। अभी गैंगरेप की पुष्टि नहीं हुई। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई करेंगे। वहीं, पिता का कहना है कि उनकी बेटी के साथ गैंगरेप हुआ था। इसी वजह से उसने खुदकुशी कर ली। उधर, गोंडा में तीन दलित बहनों पर एसिड फेंकने की वारदात सामने आई है। घटना सोमवार देर रात की है। वारदात उस समय हुई जब तीनों घर में सोईं थी। घटना में बड़ी बहन का चेहरा झुलस गया, जबकि दो बहनों पर एसिड के छींटे पड़े। वारदात को किसने अंजाम दिया, इस बारे में अभी पता नहीं चल पाया। तीनों बहनों को अस्पताल में एडमिट कराया है। बताया जा रहा है कि बड़ी लड़की की सगाई इसी महीने की 23 अक्टूबर को होने वाली थी।

पीड़ित लड़कियों के पिता गोरई ने बताया कि घटना सोमवार रात की है। 17, 12 और आठ साल की हमारी तीनों बेटियां छत पर बने कमरे में सो रही थीं। पीछे से कोई बल्ली लगाकर ऊपर चढ़ा और एसिड फेंक दिया। जलन होने पर बड़ी बेटी जोर से चिल्लाई। वह तुरंत सीढ़ी से नीचे की तरफ भागी। तीनों बहनें एक साथ सो रहीं थीं। मैं भी सो रहा था, इसलिए देख नहीं पाया कि किसने और कहां से फेंका है।

रोते हुए पिता ने यह भी कहा, ”जब बेटी को गोद में उठाया तो पता चला तेजाब डाला गया है। 10 दिन बाद बड़ी बेटी की सगाई होनी थी। जब लड़कियां चिल्लाई तो भागकर ऊपर गए। हमने तड़पती बिटिया को गोद में ले लिया। तब मेरी बनियान भी गलकर गिरने लगी, तब समझ आया कि तेजाब डाल दिया। लखनऊ से बड़ी बिटिया की शादी तय किए थे। 23 अक्टूबर को सगाई होनी थी। सब बर्बाद हो गया है। गांव में हमारी किसी से रंजिश नहीं है।”

एसपी शैलेश कुमार पांडेय ने बताया कि परसपुर में पक्का कस्बे में एक घटना हुई है। सो रही तीन बच्चियों के ऊपर केमिकल से अटैक किया गया है। केमिकल कौन सा है इसकी जांच डॉक्टर कर रहे हैं। उसके बाद ही पता चल पाएगा कि कौन सा केमिकल है। परिजन से बात हुई है। उनका किसी पर शक नहीं है। अभी तक किसी के खिलाफ तहरीर या शिकायत नहीं मिली है। मौके पर डॉग स्क्वॉड और फोरेंसिक विभाग की टीम मौके पर पहुंच गई है। तीनों बच्चियां नाबालिग हैं। शुरुआती स्तर पर यही लग रहा है कि घटना में कस्बे के लोग ही शामिल हैं।

पढ़ें :- मुगलसराय थाने से हर महीने 35 लाख की वसूली की लिस्ट हुई वायरल, पुलिस विभाग में माचा हड़कंप

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...