अब केंद्रशासित राज्यों की संख्या बढ़कर 7 से हुई 9, प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो पढ़ें पूरी खबर

jammu
जम्मू-कश्मीर: नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी के बागी नेताओं ने बनाया नया दल, ये होगा नाम

नई दिल्ली। मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल में दूसर बड़ा फैसला लिया है। मोदी सरकार के ऐतिहासिक फैसले ने देश के राज्यों की संख्या घटा दी है, जबकि केंद्रशासित प्रदेशों की संख्या बढ़ गयी है। धारा 370 हटाए जाने के बाद जम्मू कश्मीर और लद्दाख को केंद्रशासित प्रदेश बना दिया गया है। लिहाजा अब केंद्रशासित राज्यों की संख्या बढ़कर सात से नौ हो गई।

Now The Number Of Union Territories Increased From 7 To 9 :

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में पाच अगस्त को एक विधेयक पेश किया। इस विधेयक के अनुसार जम्मू कश्मीर राज्य का विभाजन दो केंद्र शासित प्रदेशों के रूप में करने का प्रस्ताव किया गया है। गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में एक संकल्प पेश किया जिसमें कहा गया है कि संविधान के अनुच्छेद 370 के सभी खंड जम्मू-कश्मीर में लागू नहीं होंगे।

इसके साथ ही जम्मू एवं कश्मीर राज्य पुनर्गठन विधेयक 2019 पेश किया। बता दें कि, लद्दाख अब केंद्र शासित प्रदेश हो जायेगा लेकिन यहां चंडीगढ़ की तरह से विधानसभा नहीं होगी। हालांकि जम्मू कश्मीर में दिल्ली और पुडुचेरी की तरह विधानसभा होगी। इस तरह से देश में केंद्र शासित राज्यों की संख्या 7 से बढ़कर 9 हो गई है।

अब तक यह थे केंद्र शासित प्रदेश
1— दिल्ली
2— अण्डमान और निकोबार द्वीपसमूह
3— चण्डीगढ़
4— दादरा और नगर हवेली
5— दमन और दीव
6— लक्षद्वीप
7— पुदुच्चेरी

नई दिल्ली। मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल में दूसर बड़ा फैसला लिया है। मोदी सरकार के ऐतिहासिक फैसले ने देश के राज्यों की संख्या घटा दी है, जबकि केंद्रशासित प्रदेशों की संख्या बढ़ गयी है। धारा 370 हटाए जाने के बाद जम्मू कश्मीर और लद्दाख को केंद्रशासित प्रदेश बना दिया गया है। लिहाजा अब केंद्रशासित राज्यों की संख्या बढ़कर सात से नौ हो गई। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में पाच अगस्त को एक विधेयक पेश किया। इस विधेयक के अनुसार जम्मू कश्मीर राज्य का विभाजन दो केंद्र शासित प्रदेशों के रूप में करने का प्रस्ताव किया गया है। गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में एक संकल्प पेश किया जिसमें कहा गया है कि संविधान के अनुच्छेद 370 के सभी खंड जम्मू-कश्मीर में लागू नहीं होंगे। इसके साथ ही जम्मू एवं कश्मीर राज्य पुनर्गठन विधेयक 2019 पेश किया। बता दें कि, लद्दाख अब केंद्र शासित प्रदेश हो जायेगा लेकिन यहां चंडीगढ़ की तरह से विधानसभा नहीं होगी। हालांकि जम्मू कश्मीर में दिल्ली और पुडुचेरी की तरह विधानसभा होगी। इस तरह से देश में केंद्र शासित राज्यों की संख्या 7 से बढ़कर 9 हो गई है। अब तक यह थे केंद्र शासित प्रदेश 1— दिल्ली 2— अण्डमान और निकोबार द्वीपसमूह 3— चण्डीगढ़ 4— दादरा और नगर हवेली 5— दमन और दीव 6— लक्षद्वीप 7— पुदुच्चेरी