1. हिन्दी समाचार
  2. अब चोरी हुआ फ़ोन मिल जायेगा आसानी से, सरकार ने तैयार किया डेटाबेस

अब चोरी हुआ फ़ोन मिल जायेगा आसानी से, सरकार ने तैयार किया डेटाबेस

Now The Stolen Phone Will Be Found Easily The Government Has Prepared The Database

By विपिन यादव 
Updated Date

नई दिल्ली। सरकार एक ऐसी टेक्नोलॉजी पर काम कर रही है, जिससे चोरी हुए फोन आसानी से मिल जाएंगे। केंद्र सरकार इस नई तकनीक की शुरुआत अगले महीने अगस्त से करेगी। एक अधिकारी ने बताया कि अगर मोबाइल चोरी होते ही फोन से सिम कार्ड निकाल दिया जाता है या उसका आईएमईआई(IMEI) नंबर बदल दिया जाता है, तब भी नई टेक्नोलॉजी से मोबाइल को ट्रेस किया जा सकेगा।

पढ़ें :- नई नवेली दुल्हन नेहा कक्कड़ का सोशल मीडिया पर ऐलान, इंस्टा पर बदला...

इस तकनीक की सबसे ख़ास बात यह है कि इसके जरिए स्मार्टफोन से सिम कार्ड निकाल देने या IMEI नंबर बदल देने के बाद भी ट्रैक किया जा सकेगा। सरकार के इस कदम के बाद आने वाले दिनों में अगर किसी व्यक्ति का स्मार्टफोन चोरी हो जाता है या खो जाता है तो वे थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाने के बाद एक हेल्पलाइन नंबर के जरिए दूरसंचार विभाग( DoT ) को इसकी जानकारी दे सकेंगे। इसके बाद CEIR की मदद से चोरी किए गए या गुम हुए स्मार्टफोन पर मौजूदा सभी तरह की सेवाओं को ब्लॉक कर दिया जाएगा। इसके बाद फोन ब्लॉक हो जाएगा और ये इस्तेमाल करने लायक भी नहीं रहेगा।

टेलीकॉम विभाग ने DoT को जुलाई 2017 में CEIR प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी दी थी। इसके बाद इसका ट्रायल सबसे पहले महाराष्ट्र में किया गया। इस ट्रायल से मिली सफलता के बाद सरकार इसे देश भर में जल्द ही पेश करने की तैयारी में है। इस प्रोजेक्ट के लिए सरकार ने 2019-2020 के अंतिम बजट में CEIR प्रोजेक्ट के लिए दूरसंचार विभाग को 15 करोड़ रुपये भी आवंटित कर दिए था। देश में बढ़ते मोबाइल फोन की समस्या को देखते हुए ये कदम उठाया गया है। अगर इस तकनीक को लागू कर दिया जाता है, तो फोन चोरी पर काफी हद तक लगाम लगाया जा सकेगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...