अब गाजीपुर का नाम बदलने की उठी मांग, डिप्टी सीएम को ज्ञापन देकर यह नाम रखने की उठाई मांग

gajpur
अब गाजीपुर का नाम बदलने की उठी मांग, डिप्टी सीएम को ज्ञापन देकर यह नाम रखने की उठाई मांग

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कई जिलों के नाम बदल दिए हैं। इसी बीच उनकी ही पार्टी के नेता ने गाजीपुर जिले का नाम बदलने की मांग की है। इसको लेकर उन्होंने प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव मौर्य को ज्ञापन भी सौंपा है। बीजेपी नेता का कहना है कि प्राचाीन काल के महार्षि विश्वमित्र के पिता राजा गाधि के नाम से ये गाधिपुरी विख्यात था।
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश सह मीडिया प्रमुख नवीन श्रीवास्तव ने गाजीपुर जिले का नाम बदलने की मांग की है।

Now There Is A Demand For Changing The Name Of Ghazipur By Raising A Memorandum To The Deputy Cm :

नवीन श्रीवास्तव ने मांग उठाई ​है कि गाजीपुर जिले का नाम गाधिपुरी किया जाये। बीजेपी नेता के अनुसार प्राचीन काल के महर्षि विश्वामित्र के पिता राजा गाधि के नाम से ये गाधिपुरी विख्यात था। मुस्ल्मि आक्रांता मुहम्मद बिन तुगलक के सिपहसालार सैयद मसूद अल हुसैनी ने हिंदू राजा मांधाता को हराकर इस नगर पर कब्जा कर लिया था।

इस जीत के बाद उसे ‘गाजी’ की उपाधि दी गई और गाधिपुरी का नाम बदलकर गाजीपुर कर दिया गया। मांग है कि उसे पुनः गाधिपुरी नाम से स्थापित किया जाए। बता दें कि, उत्तर प्रदेश के योगी सरकार बनने के बाद कई जिलों का नाम बदला गया था। इसके साथ 13 अन्य जिलों के नाम बदलने की भी लगातार मांग उठ रही है।

अब गाजीपुर का प्राचीन गौरव फिर से लौटाने के लिए भाजपा के वरिष्ठ नेता व प्रवक्ता नवीन श्रीवास्तव ने गाजीपुर का नाम गाधिपुरी करने की मांग की है। उन्होंने इस संबंध में प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को अनुरोध पत्र भेजा है।

गौरतलब है कि योगी सरकार ने अभी तक मुगलसराय जिले का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर, इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किया गया, जबकि देव दीपावली के दिन फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या कर दिया गया। सूत्रों की माने तो अयोध्या के नामकरण के बाद अब बस्ती जिले का नाम बदलने की तैयारी की जा रही है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कई जिलों के नाम बदल दिए हैं। इसी बीच उनकी ही पार्टी के नेता ने गाजीपुर जिले का नाम बदलने की मांग की है। इसको लेकर उन्होंने प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव मौर्य को ज्ञापन भी सौंपा है। बीजेपी नेता का कहना है कि प्राचाीन काल के महार्षि विश्वमित्र के पिता राजा गाधि के नाम से ये गाधिपुरी विख्यात था। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश सह मीडिया प्रमुख नवीन श्रीवास्तव ने गाजीपुर जिले का नाम बदलने की मांग की है। नवीन श्रीवास्तव ने मांग उठाई ​है कि गाजीपुर जिले का नाम गाधिपुरी किया जाये। बीजेपी नेता के अनुसार प्राचीन काल के महर्षि विश्वामित्र के पिता राजा गाधि के नाम से ये गाधिपुरी विख्यात था। मुस्ल्मि आक्रांता मुहम्मद बिन तुगलक के सिपहसालार सैयद मसूद अल हुसैनी ने हिंदू राजा मांधाता को हराकर इस नगर पर कब्जा कर लिया था। इस जीत के बाद उसे 'गाजी' की उपाधि दी गई और गाधिपुरी का नाम बदलकर गाजीपुर कर दिया गया। मांग है कि उसे पुनः गाधिपुरी नाम से स्थापित किया जाए। बता दें कि, उत्तर प्रदेश के योगी सरकार बनने के बाद कई जिलों का नाम बदला गया था। इसके साथ 13 अन्य जिलों के नाम बदलने की भी लगातार मांग उठ रही है। अब गाजीपुर का प्राचीन गौरव फिर से लौटाने के लिए भाजपा के वरिष्ठ नेता व प्रवक्ता नवीन श्रीवास्तव ने गाजीपुर का नाम गाधिपुरी करने की मांग की है। उन्होंने इस संबंध में प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को अनुरोध पत्र भेजा है। गौरतलब है कि योगी सरकार ने अभी तक मुगलसराय जिले का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर, इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किया गया, जबकि देव दीपावली के दिन फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या कर दिया गया। सूत्रों की माने तो अयोध्या के नामकरण के बाद अब बस्ती जिले का नाम बदलने की तैयारी की जा रही है।