अब टीबी का इलाज होगा आसान, जानिए कैसे

tuberculosis-drug
अब टीबी का इलाज होगा आसान, जानिए कैसे

नई दिल्ली। आधुनिक जीवनशैली और भागदौड़ भरी जिंदगी की वजह से बीमारियां काफी बढ़ रही है। उनमें से एक बीमारी टीबी भी है। टीबी के उपचार के लिए एक ऐसी दवा बनाई जा रही है, जो इस बीमारी के इलाज के लंबे समय को कम करने में असरदार साबित हो सकती है। ‘एंटीमाइक्रोबियल एजेंट्स एंड कीमोथैरेपी’ एक अध्ययन रिपोर्ट में कहा गया है कि टीबी की नई प्रयोगात्मक एंटीबॉयोटिक दवा उन कोशिकाओं में रहती है जहां माइकोबैक्टीरियम टीबी जीवाणु लंबे समय तक रहते हैं और यह दवा इन जीवाणुओं को अधिक प्रभावशाली तरीके से समाप्त करती है।

Now Treatment Of Tb Will Be Easy :

अमेरिका के कोलोराडो स्टेट विश्वविद्यालय में सहायक प्रोफेसर ग्रेगोरी टी रॉबर्ट्सन ने बताया कि ‘टीबी की दवा बनाने वाले साइंटिस्ट का मकसद है कि एक ऐसी दवाई का निर्माण करें जो टीबी के उपचार की अवधि को कम कर सके और इसे सरल बनाए। अभी टीबी के उपचार में कम से कम छह महीने का समय लगता है और कई बार तो इसमें एक साल से भी अधिक समय लग जाता है।’

इस नई दवा का नाम एएन12855 है। रॉबर्टसन ने कहा, ‘एएन12855 की मौजूदा दवा आइसोनियाजिड की तुलना में अधिक प्रभावशाली साबित हुई है।’

टीबी के लक्षण

तीन हफ्ते से ज्यादा खांसी और उसके साथ तेज बुखार
खांसी के साथ बलगम आना
वजन में लगातार कमी
थकान महसूस होना
रात के समय भी पसीना आना
गले में सूजन या गिल्टी होना
एक महीने से ज्यादा सीने में दर्द होना

नई दिल्ली। आधुनिक जीवनशैली और भागदौड़ भरी जिंदगी की वजह से बीमारियां काफी बढ़ रही है। उनमें से एक बीमारी टीबी भी है। टीबी के उपचार के लिए एक ऐसी दवा बनाई जा रही है, जो इस बीमारी के इलाज के लंबे समय को कम करने में असरदार साबित हो सकती है। ‘एंटीमाइक्रोबियल एजेंट्स एंड कीमोथैरेपी’ एक अध्ययन रिपोर्ट में कहा गया है कि टीबी की नई प्रयोगात्मक एंटीबॉयोटिक दवा उन कोशिकाओं में रहती है जहां माइकोबैक्टीरियम टीबी जीवाणु लंबे समय तक रहते हैं और यह दवा इन जीवाणुओं को अधिक प्रभावशाली तरीके से समाप्त करती है। अमेरिका के कोलोराडो स्टेट विश्वविद्यालय में सहायक प्रोफेसर ग्रेगोरी टी रॉबर्ट्सन ने बताया कि 'टीबी की दवा बनाने वाले साइंटिस्ट का मकसद है कि एक ऐसी दवाई का निर्माण करें जो टीबी के उपचार की अवधि को कम कर सके और इसे सरल बनाए। अभी टीबी के उपचार में कम से कम छह महीने का समय लगता है और कई बार तो इसमें एक साल से भी अधिक समय लग जाता है।' इस नई दवा का नाम एएन12855 है। रॉबर्टसन ने कहा, ‘एएन12855 की मौजूदा दवा आइसोनियाजिड की तुलना में अधिक प्रभावशाली साबित हुई है।' टीबी के लक्षण तीन हफ्ते से ज्यादा खांसी और उसके साथ तेज बुखार खांसी के साथ बलगम आना वजन में लगातार कमी थकान महसूस होना रात के समय भी पसीना आना गले में सूजन या गिल्टी होना एक महीने से ज्यादा सीने में दर्द होना