अमेरि​की एनआरआई समुदाय से राहुल गांधी की अपील भारत लौटकर बदलें देश की तस्वीर

Rahul Gandhi
अमेरि​की एनआरआई समुदाय से राहुल गांधी की अपील भारत लौटकर बदलें देश की तस्वीर

नई दिल्ली। दिल्ली की राजनीति के मुद्दे तय करने के लिए अमेरिका का दौरा कर रहे राहुल गांधी ने न्यूयार्क के टाइम्स स्क्वॉयर में एनआरआई समुदाय को संबोधित किया। कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने इस मौके पर एनआरआई समुदाय को अपने देश के प्रति कर्तव्यों को याद दिलाते हुए कहा कि भारत की आजादी का संघर्ष करने वाले महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, सरदार पटेल और डॉ0 अंबेडकर भी एनआरआई थे। उन्होंने देश के बाहर का माहौल देखा और फिर भारत लौटकर आजादी के लिए संघर्ष किया। गांधी ने कहा कि अगर देखा जाए तो भारत की आजादी के लिए कांग्रेस द्वारा चलाया गया पूरा आंदोलन ही एनआरआई लोगों के नेतृत्व में चला था।

Nri Should Return To India And Lead It For Progress Says Rahul Gandhi :

राहुल गांधी ने अमेरिका में बस चुके भारतीय मूल के लोगों से कहा कि आप लोग विदेश में बहुत अच्छा काम कर रहे हैं, लेकिन भारत में भी आज करने को बहुत कुछ है। एनआरआई समुदाय ने दुनिया देखी है, वह चाहे तो भारत की सूरत को बदल सकते हैं।

राहुल गांधी ने उदाहरण देते हुए बताया कि भारत की श्वेत क्रांति की बात करें तो यह वर्गीज कूरियन की देन हैं, जो एक एनआरआई थे। श्वेत क्रांति ने भारत की एक बड़ी आबादी को आत्म निर्भर बनाने में योगदान दिया।

इसके साथ ही राहुल गांधी ने अपने पिता राजीव गांधी के मित्र सैम पित्रोदा का जिक्र करते हुए कहा कि भारत ने आज सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में जो तरक्की की है उसमें सैम पत्रोदा का योगदान बेहद अहम है। भारत में कम्प्यूटर पहुंचाने में सैम की भूमिका बेहद अहम मानी जाती है।

नई दिल्ली। दिल्ली की राजनीति के मुद्दे तय करने के लिए अमेरिका का दौरा कर रहे राहुल गांधी ने न्यूयार्क के टाइम्स स्क्वॉयर में एनआरआई समुदाय को संबोधित किया। कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने इस मौके पर एनआरआई समुदाय को अपने देश के प्रति कर्तव्यों को याद दिलाते हुए कहा कि भारत की आजादी का संघर्ष करने वाले महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, सरदार पटेल और डॉ0 अंबेडकर भी एनआरआई थे। उन्होंने देश के बाहर का माहौल देखा और फिर भारत लौटकर आजादी के लिए संघर्ष किया। गांधी ने कहा कि अगर देखा जाए तो भारत की आजादी के लिए कांग्रेस द्वारा चलाया गया पूरा आंदोलन ही एनआरआई लोगों के नेतृत्व में चला था।राहुल गांधी ने अमेरिका में बस चुके भारतीय मूल के लोगों से कहा कि आप लोग विदेश में बहुत अच्छा काम कर रहे हैं, लेकिन भारत में भी आज करने को बहुत कुछ है। एनआरआई समुदाय ने दुनिया देखी है, वह चाहे तो भारत की सूरत को बदल सकते हैं।राहुल गांधी ने उदाहरण देते हुए बताया कि भारत की श्वेत क्रांति की बात करें तो यह वर्गीज कूरियन की देन हैं, जो एक एनआरआई थे। श्वेत क्रांति ने भारत की एक बड़ी आबादी को आत्म निर्भर बनाने में योगदान दिया।इसके साथ ही राहुल गांधी ने अपने पिता राजीव गांधी के मित्र सैम पित्रोदा का जिक्र करते हुए कहा कि भारत ने आज सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में जो तरक्की की है उसमें सैम पत्रोदा का योगदान बेहद अहम है। भारत में कम्प्यूटर पहुंचाने में सैम की भूमिका बेहद अहम मानी जाती है।