एनआरएचएम घोटाला: पूर्व मंत्री अंटू मिश्रा की याचिका खारिज

इलाहाबाद: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मायावती सरकार में बहुचर्चित स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन (एनआरएचएम) घोटाले के आरोपी पूर्व कैबिनेट मंत्री रहे अनंत कुमार मिश्रा उर्फ अंटू की याचिका खारिज कर दी है। कोर्ट ने कहा है कि याची चाहे तो नियमानुसार सीबीआई की विशेष अदालत गाजियाबाद में अर्जी दाखिल कर सकता है।

कोर्ट ने अंटू के पिता दिनेश चन्द्र मिश्र व उनकी माता की याचिका की सुनवाई की तिथि 23 सितम्बर नियत की है। यह आदेश न्यायमूर्ति अरुण कुमार टंडन ने दिया है। अंटू मिश्रा ने 23 अगस्त 10 को सीबीआई कोर्ट में अर्जी दी थी कि उसे मुकदमा सुनने का क्षेत्राधिकार नहीं है क्योंकि हाईकोर्ट ने उनकी जांच का आदेश नहीं दिया है।




सीबीआई ने बिना सरकार की अनुमति लिए चार्जशीट दाखिल की है। याची पर सीएमओ की तैनाती करने का आरोप है। किसी प्रकार के घपले करने का आरोप नहीं है। सीबीआई ने उनके खिलाफ आपराधिक षडयंत्र करने का आरोप पत्र दाखिल किया है तथा याची की अर्जी पर विचार किये बगैर आदेश जारी किया गया।

कोर्ट ने कहा कि अर्जी नियमानुसार नहीं है। याची का कहना था कि डीएसपीई एक्ट की धारा 6 का पालन नहीं किया गया है। ऐसे में विशेष अदालत को चार्जशीट पर कार्यवाही करने का क्षेत्राधिकार नहीं है।