1. हिन्दी समाचार
  2. ‘सिंदूर खेला’ के बाद नुसरत जहां का इस्लाम धर्मगुरूओं को जबाब ‘मुझे विवादों से फर्क नहीं पड़ता’

‘सिंदूर खेला’ के बाद नुसरत जहां का इस्लाम धर्मगुरूओं को जबाब ‘मुझे विवादों से फर्क नहीं पड़ता’

Nusrat Jahans Reply To Islamic Religious Leaders After Sindoor Khela I Dont Mind Controversies

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की सांसद नुसरत जहां ने जबसे निखिल जैन से शादी की तबसे आये दिन वो विवादों से घिरी रहती हैं। उन्होने निखिल जैन से हिन्दू रीति रिवाज से विवाह किया तबसे ​जब भी कोई हिन्दू त्योहार होता है उसमे वह बढ़ चढ़कर हिस्सा लेती हैं और इसको लेकर ही वो निशाने पर आ जाती हैं। इस बार उन्होने पति के साथ सिंदूर खेला में हिस्सा लिया। और इस्लामिक धर्मगुरूओं को जबाब देते हुए बोलीं उन्हे विवादों से कोई फर्क नही पड़ता, वह सभी धर्मों का सम्मान करती हैं।

पढ़ें :- आज ईद के मौके पर आईपीएल फ्रेंचाइजी टीमों ने भी दी देशवासियों को ईद की बधाई


पूरे नवरात्र के दौरान यह देखा गया कि नुसरत ने धूम धाम के साथ त्योहार मनाया वहीं नवरात्र समाप्त होने के बाद शुक्रवार को उन्होने पारंपरिक तरीके से लाल साड़ी में सिंदूर खेला में भी हिस्सा। पति के साथ सिंदूर खेला में हिस्सा लेने के बाद उन्होने पत्रकारों से बात की और बोली ‘मैं भगवान की खास बेटी हूं। मैं बंगाल में जन्मी और पली-बढ़ी हूं, मैं सभी त्योहार मनाती हूं। मैं इंसानियत और प्यार का सबसे ज्यादा सम्मान करती हूं। मैं बहुत खुश हूं और विवादों से मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता।

आपको बता दें कि दुर्गा पूजा में शामिल होने की वजह से सोमवार को इत्तेहादे-उलेमा-ए-हिंद के उपाध्यक्ष मुफ्ती असद कासमी ने कहा था कि नुसरत जहां ने धर्म से बाहर भी विवाह किया है, नुसरत जहां को अपना धर्म बदल लेना चाहिए, इस्लाम केवल अल्लाह की इबादत करने का आदेश देता है, वह अपने कार्यों से ‘इस्लाम और मुसलमानों को बदनाम कर रही हैं, इस्लाम को ऐसे लोगों की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X