जयललिता की हालत नाजुक, पन्नीरसेल्वम को बनाया जा सकता है उनका उत्तराधिकारी

चेन्नई| तमिलनाडु के अपोलो अस्पताल में भर्ती राज्य की मुख्यमंत्री जे.जयललिता की हालत गंभीर बनी हुई है| अस्पताल की ओर से जारी बयान के मुताबिक, जयललिता की हालत गंभीर बनी हुई है और उन्हें ईसीएमओ और अन्य जीवनरक्षक सपोर्ट पर रखा गया है| उधर, पिछले दो महीने से जयललिता की बीमारी के बाद से कार्यवाहक मुख्यमंत्री के तौर पर कार्यभार संभाल रहे राज्य के वित्त मंत्री ओ पन्नीरसेल्वम को जयललिता का उत्तराधिकारी बनाने की तैयारी शुरू हो गई है| एआईडीएमके विधायकों को अपोलो अस्पताल बुलाया गया है| विधायकों से पनीरसेल्वम को जयललिता का उत्तराधिकारी बनाने वाले हलफनामे पर दस्तखत कराए जाएंगे| पन्नीरसेल्वम मंत्रिमंडल में जयललिता के सबसे वफादार और करीबी बताये जाते हैं| यही वजह है कि जयललिता के बीमारी के मद्देनजर गवर्नर विद्यासागर राव ने 11 अक्टूबर को अहम फैसला लेेते हुए जयललिता के सारे विभागों को उन्हें सौंप दिया था|




इससे पहले, जयललिता को रविवार शाम दिल का दौरा पड़ने की खबर मिलते ही उनके समर्थकों की भीड़ अस्पताल के बाहर जुट गई| अपोलो अस्पताल की संयुक्त प्रबंध निदेशक संगीता रेड्डी ने कहा, “हमारे चिकित्सक उनकी सेहत पर करीब से निगाह बनाए हुए हैं और अपना सर्वश्रेष्ठ दे रहे हैं|” महाराष्ट्र के राज्यपाल सी.विद्यासगार राव, जिनके पास तमिलनाडु का भी अतिरिक्त प्रभार है, रविवार रात अस्पताल पहुंचे थे लेकिन इसके बाद उन्होंने कोई बयान जारी नहीं किया| इससे पहले उनके अपोलो अस्पताल के दौरे के बाद राजभवन से एक बयान जारी किया जाता था|

O Panneerselvam To Be Appointed Jayalalithaas Successor Through Declaration Signed By Aiadmk Mlas :

अस्पताल ने रविवार रात जारी बयान में कहा था, “तमिलनाडु की मुख्यमंत्री को आज शाम दिल का दौरा पड़ा। उनका चेन्नई के अपोलो अस्पताल में इलाज चल रहा है और चिकित्सकों तथा विशेषज्ञों का एक दल उनके स्वास्थ्य पर निगरानी बनाए हुए हैं|” अस्पताल की ओर से जारी ट्वीट के मुताबिक, “लंदन से डॉक्टर रिचर्ड बील से भी सलाह ली गई है|” अस्पताल ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “मुख्यमंत्री जयललिता आम जनता की नेता हैं| उनके जल्द ठीक होने की कामना करें|”

अपोलो अस्पताल के बाहर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। पूरे राज्य में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है| तमिलनाडु के नेता और विधायक अस्पताल के बाहर इकट्ठा हो गए हैं। उनके कई प्रशंसकों का रो-रोकर बुरा हाल है| कुछ पुरुष और महिलाएं हाथ जोड़कर जयललिता के जल्द ठीक होने की प्रार्थना कर रहे हैं। कुछ लोगों ने अस्पताल परिसर में घुसने की भी कोशिश की, लेकिन उन्हें रोक दिया गया|



चेन्नई| तमिलनाडु के अपोलो अस्पताल में भर्ती राज्य की मुख्यमंत्री जे.जयललिता की हालत गंभीर बनी हुई है| अस्पताल की ओर से जारी बयान के मुताबिक, जयललिता की हालत गंभीर बनी हुई है और उन्हें ईसीएमओ और अन्य जीवनरक्षक सपोर्ट पर रखा गया है| उधर, पिछले दो महीने से जयललिता की बीमारी के बाद से कार्यवाहक मुख्यमंत्री के तौर पर कार्यभार संभाल रहे राज्य के वित्त मंत्री ओ पन्नीरसेल्वम को जयललिता का उत्तराधिकारी बनाने की तैयारी शुरू हो गई है| एआईडीएमके विधायकों को अपोलो अस्पताल बुलाया गया है| विधायकों से पनीरसेल्वम को जयललिता का उत्तराधिकारी बनाने वाले हलफनामे पर दस्तखत कराए जाएंगे| पन्नीरसेल्वम मंत्रिमंडल में जयललिता के सबसे वफादार और करीबी बताये जाते हैं| यही वजह है कि जयललिता के बीमारी के मद्देनजर गवर्नर विद्यासागर राव ने 11 अक्टूबर को अहम फैसला लेेते हुए जयललिता के सारे विभागों को उन्हें सौंप दिया था| इससे पहले, जयललिता को रविवार शाम दिल का दौरा पड़ने की खबर मिलते ही उनके समर्थकों की भीड़ अस्पताल के बाहर जुट गई| अपोलो अस्पताल की संयुक्त प्रबंध निदेशक संगीता रेड्डी ने कहा, "हमारे चिकित्सक उनकी सेहत पर करीब से निगाह बनाए हुए हैं और अपना सर्वश्रेष्ठ दे रहे हैं|" महाराष्ट्र के राज्यपाल सी.विद्यासगार राव, जिनके पास तमिलनाडु का भी अतिरिक्त प्रभार है, रविवार रात अस्पताल पहुंचे थे लेकिन इसके बाद उन्होंने कोई बयान जारी नहीं किया| इससे पहले उनके अपोलो अस्पताल के दौरे के बाद राजभवन से एक बयान जारी किया जाता था|अस्पताल ने रविवार रात जारी बयान में कहा था, "तमिलनाडु की मुख्यमंत्री को आज शाम दिल का दौरा पड़ा। उनका चेन्नई के अपोलो अस्पताल में इलाज चल रहा है और चिकित्सकों तथा विशेषज्ञों का एक दल उनके स्वास्थ्य पर निगरानी बनाए हुए हैं|" अस्पताल की ओर से जारी ट्वीट के मुताबिक, "लंदन से डॉक्टर रिचर्ड बील से भी सलाह ली गई है|" अस्पताल ने एक अन्य ट्वीट में कहा, "मुख्यमंत्री जयललिता आम जनता की नेता हैं| उनके जल्द ठीक होने की कामना करें|"अपोलो अस्पताल के बाहर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। पूरे राज्य में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है| तमिलनाडु के नेता और विधायक अस्पताल के बाहर इकट्ठा हो गए हैं। उनके कई प्रशंसकों का रो-रोकर बुरा हाल है| कुछ पुरुष और महिलाएं हाथ जोड़कर जयललिता के जल्द ठीक होने की प्रार्थना कर रहे हैं। कुछ लोगों ने अस्पताल परिसर में घुसने की भी कोशिश की, लेकिन उन्हें रोक दिया गया|