ओडीओपी समिट: गोरखपुर के टेरीकोटा कारीगरों को मिलेंगे मार्डन इलेक्ट्रिक पोटरी व्हील

odop-summit
ओडीओपी समिट: गोरखपुर के टेरीकोटा कारीगरों को मिलेंगे मार्डन इलेक्ट्रिक पोटरी व्हील

लखनऊ। भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद लखनऊ में 10 अगस्त को आयोजित एक जनपद-एक उत्पाद(ओडीओपी) समिट में उप्र इन्सटीट्यूट आफ डिजाइन संस्थान से प्रशिक्षित तीन जनपदों के 78 कारीगरों को टूलकिट प्रदान करेंगे। ये जनपद गोरखपुर, आगरा एवं मुरादाबाद है। इन टूलकिटों का उपयोग करके कारीगर अपने उत्पादों को और बेहतर ढंग से निर्मित कर सकेंगे।

Odop Summit Lucknow :

डिजाइन संस्थान की चेयरपर्सन क्षिप्रा शुक्ला ने यह जानकारी देते हुए बताया कि ओडीओपी समिट में जनपद गोरखपुर के 26 कारीगरों को इलेक्ट्रिक पोटरी व्हील प्रदान किये जायेंगे। इनके अतिरिक्त जनपद आगरा के 26 कारीगरों को मार्बल इन्ले तथा मुरादाबाद के 26 कारीगरों को मेटल क्राफ्ट संबंधी टूल किटों का वितरण किया जायेगा। उन्होंने बताया कि सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री सत्यदेव पचैरी के मार्गदर्शन में उप्र इन्स्टीट्यूट आफ डिजाइन संस्थान द्वारा राज्य के आठ जिलों-वाराणसी, गोरखपुर, कानपुर, लखनऊ, मुरादाबाद, आगरा, सहारनपुर एवं झांसी के कारीगरों को अपने कार्य को बेहतर ढंग से सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न उत्पादों के तहत प्रशिक्षित प्रदान किया जा रहा है।

इनमें गोरखपुर, आगरा और मुरादाबाद में आयोजित वर्कशाप के माध्यम से कारीगरों को इस क्षेत्र में प्रचलित उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए प्रशिक्षित किया गया है। शुक्ला ने बताया कि वाराणसी में शिल्प ब्रोकेट, फिरोजाबाद में ग्लास वर्क, खुर्जा में पाटरी तथा लखनऊ में जरी-जरदोजी और ब्लाक प्रिंटिंग की वर्कशाप शीघ्र ही आयोजित की जायेगी। इसमें इन क्षेत्रों के कारीगरों को डिजाइन संस्थान द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा, ताकि वे अपने उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार लाकर अत्याधुनिक तकनीक अपना कर उत्पाद निर्मित कर सकें।

शेष जनपदों में चल रही वर्कशाप के समापन के उपरान्त इनमें प्रशिक्षित कारीगरों को भी उनके क्राफ्ट से संबंधित टूलकिटों का वितरण किया जायेगा। उन्होंने बताया कि डिजाइन संस्थान द्वारा ओडीओपी योजना के तहत वाराणसी, गोरखपुर, कानपुर, लखनऊ, मुरादाबाद, आगरा, सहारनपुर एवं झांसी में डिजाइन इन्स्टीट्यूट की स्थापना कराये जाने की कार्यवाही प्रगति पर है।

लखनऊ। भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद लखनऊ में 10 अगस्त को आयोजित एक जनपद-एक उत्पाद(ओडीओपी) समिट में उप्र इन्सटीट्यूट आफ डिजाइन संस्थान से प्रशिक्षित तीन जनपदों के 78 कारीगरों को टूलकिट प्रदान करेंगे। ये जनपद गोरखपुर, आगरा एवं मुरादाबाद है। इन टूलकिटों का उपयोग करके कारीगर अपने उत्पादों को और बेहतर ढंग से निर्मित कर सकेंगे। डिजाइन संस्थान की चेयरपर्सन क्षिप्रा शुक्ला ने यह जानकारी देते हुए बताया कि ओडीओपी समिट में जनपद गोरखपुर के 26 कारीगरों को इलेक्ट्रिक पोटरी व्हील प्रदान किये जायेंगे। इनके अतिरिक्त जनपद आगरा के 26 कारीगरों को मार्बल इन्ले तथा मुरादाबाद के 26 कारीगरों को मेटल क्राफ्ट संबंधी टूल किटों का वितरण किया जायेगा। उन्होंने बताया कि सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री सत्यदेव पचैरी के मार्गदर्शन में उप्र इन्स्टीट्यूट आफ डिजाइन संस्थान द्वारा राज्य के आठ जिलों-वाराणसी, गोरखपुर, कानपुर, लखनऊ, मुरादाबाद, आगरा, सहारनपुर एवं झांसी के कारीगरों को अपने कार्य को बेहतर ढंग से सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न उत्पादों के तहत प्रशिक्षित प्रदान किया जा रहा है।इनमें गोरखपुर, आगरा और मुरादाबाद में आयोजित वर्कशाप के माध्यम से कारीगरों को इस क्षेत्र में प्रचलित उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए प्रशिक्षित किया गया है। शुक्ला ने बताया कि वाराणसी में शिल्प ब्रोकेट, फिरोजाबाद में ग्लास वर्क, खुर्जा में पाटरी तथा लखनऊ में जरी-जरदोजी और ब्लाक प्रिंटिंग की वर्कशाप शीघ्र ही आयोजित की जायेगी। इसमें इन क्षेत्रों के कारीगरों को डिजाइन संस्थान द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा, ताकि वे अपने उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार लाकर अत्याधुनिक तकनीक अपना कर उत्पाद निर्मित कर सकें।शेष जनपदों में चल रही वर्कशाप के समापन के उपरान्त इनमें प्रशिक्षित कारीगरों को भी उनके क्राफ्ट से संबंधित टूलकिटों का वितरण किया जायेगा। उन्होंने बताया कि डिजाइन संस्थान द्वारा ओडीओपी योजना के तहत वाराणसी, गोरखपुर, कानपुर, लखनऊ, मुरादाबाद, आगरा, सहारनपुर एवं झांसी में डिजाइन इन्स्टीट्यूट की स्थापना कराये जाने की कार्यवाही प्रगति पर है।