1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. हिमाचल में पहली कैबिनेट बैठक में ‘Old Pension Scheme’ बहाल , सुक्खू सरकार ने पूरा किया वादा

हिमाचल में पहली कैबिनेट बैठक में ‘Old Pension Scheme’ बहाल , सुक्खू सरकार ने पूरा किया वादा

Old Pension Scheme : हिमाचल प्रदेश में मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू (CM Sukhvinder Singh Sukhu) सरकार ने शुक्रवार को पुरानी पेंशन नीति (Old Pension Scheme) को बहाल कर दिया है। सीएम सुक्खू ने कैबिनेट की पहली मीटिंग में ही कांग्रेस पार्टी की सरकार ने वादे के मुताबिक पुरानी पेंशन नीति को फिर से बहाल करने का फैसला किया।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Old Pension Scheme : हिमाचल प्रदेश में मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू (CM Sukhvinder Singh Sukhu) सरकार ने शुक्रवार को पुरानी पेंशन नीति (Old Pension Scheme) को बहाल कर दिया है। सीएम सुक्खू ने कैबिनेट की पहली मीटिंग में ही कांग्रेस पार्टी की सरकार ने वादे के मुताबिक पुरानी पेंशन नीति (Old Pension Scheme)  को फिर से बहाल करने का फैसला किया। मुख्यमंत्री सुखविंदर सुक्खू (CM Sukhvinder Singh Sukhu) ने मीडिया को बताया कि हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव (Himachal Pradesh Assembly Election) में कर्मचारियों की सबसे बड़ी मांग यही थी। जिसे शुक्रवार (13 जनवरी) को कांग्रेस सरकार ने पूरा किया।

पढ़ें :- India and New Zealand T20 Series: भारत ने न्यूजीलैंड को 168 रनों से हराया, सीरीज पर भी किया कब्जा

बता दें कि, हाल ही में संपन्न हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव (Himachal Pradesh Assembly Election) में प्रचार के दौरान कांग्रेस के सभी नेताओं ने पुरानी पेंशन स्कीम (Old Pension Scheme)  को बहाल करने का वादा जनता से किया था। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Congress General Secretary Priyanka Gandhi Vadra) से लेकर हिमाचल कांग्रेस (Himachal Congress) के वरिष्ठ नेताओं ने भी राज्य में ओल्ड पेंशन स्कीम को बहाल करने की बात कही थी। जिसके बाद इस मुद्दे पर जमकर राजनीति भी हुई। माना जा रहा है, विधानसभा चुनाव (Assembly Election) प्रचार में कांग्रेस की तरफ से किया गया ये वादा बीजेपी पर भारी पड़ा। इसी कारण बीजेपी को सत्ता से हाथ धोना पड़ गया। NPS के तहत आते हैं करीब 1.5 लाख कर्मचारी

मिली जानकारी के मुताबिक हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में सरकारी कर्मचारियों की संख्या करीब 2.75 लाख है। आंकड़े की मानें तो इनमें से करीब 1.5 लाख कर्मचारी नई पेंशन योजना (New Pension Scheme) के तहत आते हैं। ओल्ड पेंशन स्कीम (OPS) में पेंशनरों को कर्मचारी के रूप में अंत में ड्रॉ किए वेतन का 50 प्रतिशत ही मिलता है इसके उलट NPS एक अंशदायी योजना (contributory scheme) है। जिसमें कर्मचारियों को अपने वेतन का 10 प्रतिशत देना होता है। सरकार कर्मचारी के एनपीएस खाते में 14 फीसदी डालती है।

इन कर्मचारियों को नहीं मिल रहा OPS का लाभ

पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh)  में साल 2003 से पहले नियुक्त 1,90,000 कर्मचारियों को ओल्ड पेंशन स्कीम (OPS) का लाभ मिल रहा है। इसके बाद नियुक्त सभी कर्मचारियों को NPS के तहत ही पेंशन मिल रही है। हिमाचल से पहले कांग्रेस शासित राज्य छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भी सरकार ने ओल्ड पेंशन स्कीम (Old Pension Scheme)  को फिर से बहाल करने की बात कही है।

पढ़ें :- India and New Zealand T20 Series: शुभमन गिल के तूफानी शतक के साथ टीम इंडिया ने दिया न्यूजीलैंड को 235 रनों का लक्ष्य

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...