सीएम से मिलने पहुंचे ओमप्रकाश, मंत्री जी नाराज़ है तो कैसे नहीं होगा डीएम का तबादला

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गठबंधन सरकार में शामिल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (भासपा) के अध्यक्ष और सूबे के पिछडा वर्ग तथा दिव्यांग कल्याण मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कल योगी सरकार के खिलाफ बागी तेवर दिखाया था, इस दौरान ओम प्रकाश ने सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा था कि सरकार का सही नियंत्रण न होने की वजह से उनके जिले के डीएम सही ढंग से काम नहीं कर रहे है। इसी बात से नाराज़ इस मंत्री ने सरकार से कुछ मांगे रखी थी। इस दौरान ओमप्रकाश ने चेतावनी के तौर पर कहा था कि अगर हमारी शर्त पूरी नहीं हुई तो हम सरकार के खिलाफ धरने पर बैठेंगे।

Om Prakash Minister Gets Angry With Cm If Not Dm Will Be Transferred :

मामले की गंभीरता को देखते हुए सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने ओमप्रकाश राजभर से आज मिलने का समय दिया था जहां अभी कुछ देर में ओमप्रकाश सीएम के साथ मुलाक़ात कर अपनी बात रखेंगे। ओम प्रकाश का कहना है कि गाजीपुर जिलाधिकारी पूर्व सपा सरकार के नेताओं से मिले हुए है और उन सब के इशारों पर काम करते है। इस वजह से सरकार उन्हे वहां से हटाये।

स्थानीय लोगों की माने तो राजभर जाती का प्रतिनिधित्व करने वाले ओमप्रकाश बात बात पर क्षेत्र के प्रशासनिक अधिकारियों पर दबाव बना अपना रसूख दिखाना चाहते हैं जिस वजह से प्रशासन निष्पक्ष रूप से कार्यवाई नहीं कर पाती। सूत्रों की माने तो ऐसा ही कुछ गाजीपुर डीएम के साथ है जहां मंत्री जी ने अपने किसी खास की पैरवी करने की गुहार लगाई जहां मामले की गंभीरता को देखते हुए डीएम ने निष्पक्ष कार्यवाई के आदेश दे डाले जिसके बाद मंत्री जी की साख पर बात आ गयी और सत्ता का हनक दिखते हुए डीएम की तबादला करने का मन बना लिया।

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गठबंधन सरकार में शामिल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (भासपा) के अध्यक्ष और सूबे के पिछडा वर्ग तथा दिव्यांग कल्याण मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कल योगी सरकार के खिलाफ बागी तेवर दिखाया था, इस दौरान ओम प्रकाश ने सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा था कि सरकार का सही नियंत्रण न होने की वजह से उनके जिले के डीएम सही ढंग से काम नहीं कर रहे है। इसी बात से नाराज़ इस मंत्री ने सरकार से कुछ मांगे रखी थी। इस दौरान ओमप्रकाश ने चेतावनी के तौर पर कहा था कि अगर हमारी शर्त पूरी नहीं हुई तो हम सरकार के खिलाफ धरने पर बैठेंगे। मामले की गंभीरता को देखते हुए सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने ओमप्रकाश राजभर से आज मिलने का समय दिया था जहां अभी कुछ देर में ओमप्रकाश सीएम के साथ मुलाक़ात कर अपनी बात रखेंगे। ओम प्रकाश का कहना है कि गाजीपुर जिलाधिकारी पूर्व सपा सरकार के नेताओं से मिले हुए है और उन सब के इशारों पर काम करते है। इस वजह से सरकार उन्हे वहां से हटाये। स्थानीय लोगों की माने तो राजभर जाती का प्रतिनिधित्व करने वाले ओमप्रकाश बात बात पर क्षेत्र के प्रशासनिक अधिकारियों पर दबाव बना अपना रसूख दिखाना चाहते हैं जिस वजह से प्रशासन निष्पक्ष रूप से कार्यवाई नहीं कर पाती। सूत्रों की माने तो ऐसा ही कुछ गाजीपुर डीएम के साथ है जहां मंत्री जी ने अपने किसी खास की पैरवी करने की गुहार लगाई जहां मामले की गंभीरता को देखते हुए डीएम ने निष्पक्ष कार्यवाई के आदेश दे डाले जिसके बाद मंत्री जी की साख पर बात आ गयी और सत्ता का हनक दिखते हुए डीएम की तबादला करने का मन बना लिया।