अति पिछड़ों और दलितों को जो सम्मान चाहिए वो नहीं मिला: मंत्री ओमप्रकाश राजभर

अति पिछड़ों और दलितों को जो सम्मान चाहिए वो नहीं मिला: मंत्री ओमप्रकाश राजभर
अति पिछड़ों और दलितों को जो सम्मान चाहिए वो नहीं मिला: मंत्री ओमप्रकाश राजभर

Om Prakash Rajbhar Cabinet Minister Suheldev Jayanti

वाराणसी। भारतीय समाज पार्टी (सुहेलदेव) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि अति पिछड़ों और दलितों को जो हक और सम्मान मिलना चाहिए, वो नहीं मिला है। पिछड़ा वर्ग में कई जातियां ऐसी हैं, जो सरकारी सुविधाओं से वंचित हैं। एमपी, एमएलए की पेंशन बंद कर उस धन को गरीबों, बच्चियों, दिव्यांगों की शिक्षा पर खर्च करना चाहिए। कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर वाराणसी के छोटा कटिंग मेमोरियल मैदान में महाराज सुहेलदेव की जयंती के अवसर पर लोगों को संबोधित कर रहे थे।

छोटी कटिंग मैदान पर आयोजित रैली में करीब 40 मिनट के संबोधन में ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि थानों पर सामान्य वर्ग के लोगों को थानेदार बनाया गया है। पिछड़ों और दलितों को भी बराबर हिस्सेदारी दी जानी चाहिए। उन्होंने स्कूलों में शिक्षकों की कमी का मसला उठाया। उन्होने कहा कि इच्छाशक्ति का अभाव है, नहीं तो इस समस्या का समाधान कठिन नहीं है।

उन्होने कहा, निजी और कान्वेंट स्कूलों में कम पैसों पर पढ़ा रहे शिक्षकों को पांच हजार रुपये मानदेय देकर सरकारी स्कूलों में सेवा ली जा सकती है। ये प्रस्ताव सरकार को दिया गया है। पार्टी के प्रदेश के प्रमुख महासचिव अरविंद राजभर, विधायक कैलाशनाथ सोनकर, त्रिवेणी राम, रामानंद बौद्ध, राष्ट्रीय प्रवक्ता राणा अजित प्रताप सिंह आदि ने भी संबोधित किया।

वाराणसी। भारतीय समाज पार्टी (सुहेलदेव) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि अति पिछड़ों और दलितों को जो हक और सम्मान मिलना चाहिए, वो नहीं मिला है। पिछड़ा वर्ग में कई जातियां ऐसी हैं, जो सरकारी सुविधाओं से वंचित हैं। एमपी, एमएलए की पेंशन बंद कर उस धन को गरीबों, बच्चियों, दिव्यांगों की शिक्षा पर खर्च करना चाहिए। कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर वाराणसी के छोटा कटिंग मेमोरियल मैदान में महाराज सुहेलदेव की जयंती…