दिवाली पर 60 फीसदी कम बिके चीन के सामान

आगरा: अखिल भारतीय व्यापारी संघ (कैट) ने दावा किया है कि इस दिवाली पर चीनी सामानों की बिक्री 60 फीसदी कम हुई है। क्योंकि लोगों को चीनी सामानों का बहिष्कार करने के लिए सोशल मीडिया पर भारी अभियान चलाया गया। कैट के एक प्रवक्ता ने कहा, “यहां तक कि विक्रेताओं ने भी चीनी सामानों को बेचने में उत्साह नहीं दिखाया।”

चीनी सामानों की बजाए लोगो ने मिट्टी के दीये, कागज, मिट्टी और प्लास्टिक के बने सामानों को तरजीह दी। प्रवक्ता ने आगे कहा, “इस साल विक्रेताओं का भी मेड इन इंडिया सामान बेचने पर जोर था। ये निष्कर्ष कैट द्वारा 20 शहरों में इकट्ठा किए गए आंकड़ों पर आधारित है, जिनमें दिल्ली, मुंबई, नागपुर, जयपुर, अहमदाबाद, कानपुर और भोपाल प्रमुख हैं।”

कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बी. सी. भरतिया और महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि सोशल मीडिया पर बहिष्कार की अपील के बाद चीनी मीडिया की प्रतिक्रिया की भारत केवल भौंक सकता है, का असर उपभोक्ताओं पर देखा गया। इस बार चीनी पटाखों के मुकाबले तमिलनाडु के शिवकासी में बनने वाले पटाखों की मांग रही। हालांकि चीनी सामानों के विकल्प के रूप में भारतीय सामान काफी कम मौजूद है, लेकिन इसके बावजूद लोगों ने देशी को तरजीह दी।

Loading...