CAA मुद्दे पर JDU नेता ने अपनी ही पार्टी पर उठाये सवाल तो नितीश बोले- जिसको जहां जाना है, जाए

nitish kumar
CAA मुद्दे पर JDU नेता ने अपनी ही पार्टी पर उठाये सवाल तो नितीश बोले- जिसको जहां जाना है, जाए

नई दिल्ली। बिहार प्रदेश में जेडीयू प्रमुख नितीश कुमार के नेत्रत्व में बीजेपी और जेडीयू गठबंधन की सरकार है। आने वाले कुछ महीनो में बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं लेकिन बीजेपी ने पहले ही कह दिया है कि ये चुनाव बिहार के मुख्यमंत्री व जेडीयू प्रमुख नितीश कुमार के चेहरे पर ही लड़ा जायेगा। वहीं नागरिकता काननू को लेकर दोनो पार्टियों में कुछ मतभेद नजर आ रहा था लेकिन जब जेडीयू के नेता पवन कुमार ने विरोध जताया और अपनी ही पार्टी पर सवाल उठाये तो नितीश ने उन्हे ही चेतावनी दे दी और कह दिया जिसको जहां जाना है वो चला जाए।

On The Caa Issue Jdu Leader Raised Questions On His Own Party Nitish Said Whose To Go Where To Go :

आने वाली 8 फरवरी को दिल्ली में विधानसभा चुनाव हैं, जहां भारतीय जनता पार्टी जेडीयू के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है। इसी पर ऐतराज जताते हुए जनता दल यूनाईटेड के वरिष्ठ नेता पवन कुमार वर्मा ने अपनी ही पार्टी पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा था कि देशभर में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर बीजेपी का विरोध हो रहा है। उन्होने कहा कि जेडीयू की तरफ से जहां एक तरफ सीएए और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) का विरोध किया जा रहा है, वहीं दूसरी तरफ उनकी पार्टी ने दिल्ली चुनाव में बीजेपी के साथ गठबंधन कर लिया।

इसी बात पर बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार भड़क गये और उन्होने कहा कि जिनको जहां जाना है, वह जा सकता है। उनका मतलब था कि अगर उन्हें (पवन वर्मा) कोई दूसरी पार्टी जॉइन करनी है तो वह जा सकते हैं। सीएम ने कहा, ‘कुछ लोगों के बयान से जनता दल यूनाइटेड को जोड़कर मत देखिए। हमारी पार्टी जनता के साथ अपना काम करती है। कुछ चीजों पर हम लोगों का स्टैंड साफ होता है। एक चीज के बारे में कोई कंफ्यूजन में नहीं रहना चाहिए। अगर किसी के दिल में कोई बात है तो आकर बातचीत करनी चाहिए। ऐसा बयान देना, ये आश्चर्य की बात है कि हमसे क्या बात करते थे।

नई दिल्ली। बिहार प्रदेश में जेडीयू प्रमुख नितीश कुमार के नेत्रत्व में बीजेपी और जेडीयू गठबंधन की सरकार है। आने वाले कुछ महीनो में बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं लेकिन बीजेपी ने पहले ही कह दिया है कि ये चुनाव बिहार के मुख्यमंत्री व जेडीयू प्रमुख नितीश कुमार के चेहरे पर ही लड़ा जायेगा। वहीं नागरिकता काननू को लेकर दोनो पार्टियों में कुछ मतभेद नजर आ रहा था लेकिन जब जेडीयू के नेता पवन कुमार ने विरोध जताया और अपनी ही पार्टी पर सवाल उठाये तो नितीश ने उन्हे ही चेतावनी दे दी और कह दिया जिसको जहां जाना है वो चला जाए। आने वाली 8 फरवरी को दिल्ली में विधानसभा चुनाव हैं, जहां भारतीय जनता पार्टी जेडीयू के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है। इसी पर ऐतराज जताते हुए जनता दल यूनाईटेड के वरिष्ठ नेता पवन कुमार वर्मा ने अपनी ही पार्टी पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा था कि देशभर में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर बीजेपी का विरोध हो रहा है। उन्होने कहा कि जेडीयू की तरफ से जहां एक तरफ सीएए और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) का विरोध किया जा रहा है, वहीं दूसरी तरफ उनकी पार्टी ने दिल्ली चुनाव में बीजेपी के साथ गठबंधन कर लिया। इसी बात पर बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार भड़क गये और उन्होने कहा कि जिनको जहां जाना है, वह जा सकता है। उनका मतलब था कि अगर उन्हें (पवन वर्मा) कोई दूसरी पार्टी जॉइन करनी है तो वह जा सकते हैं। सीएम ने कहा, 'कुछ लोगों के बयान से जनता दल यूनाइटेड को जोड़कर मत देखिए। हमारी पार्टी जनता के साथ अपना काम करती है। कुछ चीजों पर हम लोगों का स्टैंड साफ होता है। एक चीज के बारे में कोई कंफ्यूजन में नहीं रहना चाहिए। अगर किसी के दिल में कोई बात है तो आकर बातचीत करनी चाहिए। ऐसा बयान देना, ये आश्चर्य की बात है कि हमसे क्या बात करते थे।