कांग्रेस द्वारा DSP पर दिये गये बयान पर भड़की BJP- हिंदुओ को आतंकी घोषित करना चाहती है कांग्रेस

Sambit Patra
संबित पात्रा बोेले कांग्रेस अब बन गयी मुस्लिम राष्ट्रीय कांग्रेस, हिंदुओं का करती है अपमान

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम से गिरफ्तार किए गए डीएसपी देवेंद्र सिंह के आतंकी कनेक्शन पर पूरे देश में हड़कंप मच गया है और लगातार विपक्ष इस मामले में मोदी सरकार को घेरने की कोशिश कर रहा है। कांग्रेस ने इस मामले में डीएसपी को आरएसएस से जोड़ दिया था तो बीजेपी ने भी कांग्रेस पर पलटवार कर दिया। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी हिंदुओं को आतंकी घोषित करना चाहती है। आतंक के मुद्दे पर धर्म लाकर राजनीति करना चाहती है।

On The Statement Given By The Congress On The Dsp Bjp Is Angry Congress Wants To Declare Hindus As Terrorists :

आपको बता दें कि कांग्रेस के नेता अधीर चौधरी ने एक ट्वीट में लिखा था कि ‘क्या देवेंद्र सिंह मूल रूप से देवेंद्र खान है। इस बारे में RSS के ट्रोल रेजिमेंट को साफ-साफ और स्पष्ट शब्दों में जवाब देना चाहिए। मजहब, रंग और कर्म को किनारे रखते हुए देश के ऐसे दुश्मनों की एकसुर में आलोचना की जानी चाहिए।’ इसी पर बीजेपी की तरफ से ऐतराज जताया गया है। संबित पात्रा ने कांग्रेस पर पाकिस्तान का पक्ष लेने का आरोप लगाया है।

मंगलवार दोपहर भाजपा नेता संबित पात्रा ने प्रेस वार्ता की और कहा कि ‘इसी देश की पुलिस ने देवेंद्र सिंह को गिरफ्तार किया है, कानून अपना काम रहा है। कांग्रेस ने वही किया जिसमें वह सक्षम है, कांग्रेस ने एक बार फिर भारत पर हमला किया है और पाकिस्तान का पक्ष लिया है। कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी ने इस मामले में धर्म को घुसाया, हिंदू आतंकवाद का शब्द भी कांग्रेस ने ही इजात किया था।’ ‘कांग्रेस लंबे समय से ‘हिंदू पाकिस्तान’ की बात करती रही है। उन्होने कहा कि बटला हाउस एनकाउंटर को लेकर कांग्रेस के रवैये पर सवाल खड़े होते रहे हैं।

उन्होने इस दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर भी हमला किया और कहा कि राहुल गांधी टुकड़े-टुकड़े गैंग के साथ खड़े होते रहे हैं, कांग्रेस की ओर से इस मसले पर राजनीति की जा रही है। उन्होंने कहा कि पुलवामा हमले को लेकर कांग्रेस अलग-अलग सवाल कर रही है। क्या कांग्रेस को इस बात पर शक है कि पुलवामा आतंकी पाकिस्तान ने नहीं किया था? अगर उन्हें संशय है तो देश के सामने कहें। कांग्रेस लगातार सेना के मामलो में संदेह जताती है तो उसे ऐलान कर देना चाहिए कि उन्हें देश की सेना पर विश्वास नहीं है। कांग्रेस और पाकिस्तान में कुछ तो रिश्ता है जो बार-बार वह उसी की भाषा बोलती है।

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम से गिरफ्तार किए गए डीएसपी देवेंद्र सिंह के आतंकी कनेक्शन पर पूरे देश में हड़कंप मच गया है और लगातार विपक्ष इस मामले में मोदी सरकार को घेरने की कोशिश कर रहा है। कांग्रेस ने इस मामले में डीएसपी को आरएसएस से जोड़ दिया था तो बीजेपी ने भी कांग्रेस पर पलटवार कर दिया। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी हिंदुओं को आतंकी घोषित करना चाहती है। आतंक के मुद्दे पर धर्म लाकर राजनीति करना चाहती है। आपको बता दें कि कांग्रेस के नेता अधीर चौधरी ने एक ट्वीट में लिखा था कि 'क्या देवेंद्र सिंह मूल रूप से देवेंद्र खान है। इस बारे में RSS के ट्रोल रेजिमेंट को साफ-साफ और स्पष्ट शब्दों में जवाब देना चाहिए। मजहब, रंग और कर्म को किनारे रखते हुए देश के ऐसे दुश्मनों की एकसुर में आलोचना की जानी चाहिए।' इसी पर बीजेपी की तरफ से ऐतराज जताया गया है। संबित पात्रा ने कांग्रेस पर पाकिस्तान का पक्ष लेने का आरोप लगाया है। मंगलवार दोपहर भाजपा नेता संबित पात्रा ने प्रेस वार्ता की और कहा कि ‘इसी देश की पुलिस ने देवेंद्र सिंह को गिरफ्तार किया है, कानून अपना काम रहा है। कांग्रेस ने वही किया जिसमें वह सक्षम है, कांग्रेस ने एक बार फिर भारत पर हमला किया है और पाकिस्तान का पक्ष लिया है। कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी ने इस मामले में धर्म को घुसाया, हिंदू आतंकवाद का शब्द भी कांग्रेस ने ही इजात किया था।’ ‘कांग्रेस लंबे समय से ‘हिंदू पाकिस्तान’ की बात करती रही है। उन्होने कहा कि बटला हाउस एनकाउंटर को लेकर कांग्रेस के रवैये पर सवाल खड़े होते रहे हैं। उन्होने इस दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर भी हमला किया और कहा कि राहुल गांधी टुकड़े-टुकड़े गैंग के साथ खड़े होते रहे हैं, कांग्रेस की ओर से इस मसले पर राजनीति की जा रही है। उन्होंने कहा कि पुलवामा हमले को लेकर कांग्रेस अलग-अलग सवाल कर रही है। क्या कांग्रेस को इस बात पर शक है कि पुलवामा आतंकी पाकिस्तान ने नहीं किया था? अगर उन्हें संशय है तो देश के सामने कहें। कांग्रेस लगातार सेना के मामलो में संदेह जताती है तो उसे ऐलान कर देना चाहिए कि उन्हें देश की सेना पर विश्वास नहीं है। कांग्रेस और पाकिस्तान में कुछ तो रिश्ता है जो बार-बार वह उसी की भाषा बोलती है।