दिल्ली में कोरोना मरीज डेढ़ माह के मासूम की मौत, मुंबई में 8 दिन का नवजात शिशु संक्रमित

newborn baby

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के संक्रमण से शनिवार को दिल्ली के सबसे छोटे मरीज डेढ़ माह के मासूम की मौत हो गई। वह दिल्ली स्थित लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज से जुड़े कलावती सरन अस्पताल के आईसीयू में भर्ती था। 1 दिन पहले ही उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। मासूम के पिता की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। दिल्ली एम्स में भी एक नर्सिंग अधिकारी और उनका 20 माह का बच्चा संक्रमित पाया है। अस्पताल में ही भर्ती 10 माह का एक और बच्चा संक्रमण की चपेट में आ गया है। दरअसल, सबसे पहले अस्पताल के पीडियाट्रिक आईसीयू में काम करने वाले एक डॉक्टर इसकी चपेट में आए। उसके बाद 2 नर्स कर्मचारियों में संक्रमण की पुष्टि हुई। अस्पताल प्रशासन ने तुरंत इनके संपर्क में आने वाले बच्चों और अन्य स्वास्थ्यकर्मियों की जांच कराई। इनमें कुल 10 लोगों को संक्रमण की पुष्टि हुई।

One And A Half Month Old Innocent Dies In Delhi 8 Day Old Newborn Infected In Mumbai :

आईसीयू में कोरोना संक्रमण फैलने के बाद अस्पताल प्रशासन आईसीयू को बंद कर सैनेटाइज करने पर विचार कर रहा है। यहां भर्ती दर्जनभर से ज्यादा बच्चों में से सात वेंटिलेटर पर हैं। फिलहाल इन सभी के सैंपल जांच के लिए भेजे हैं। इनके परिजनों और स्वास्थ्यकर्मियों के संपर्क में आने वाले भी चिह्नित किया जा रहा है। नजफगढ़ में शनिवार को एक युवक की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिसके बाद नजफगढ़ के 81 परिवारों को क्वारंटाइन किया है।

महाराष्ट्र के पालघर जिले के वसई-विरार नगर निगम क्षेत्र में महज 8 दिन के नवजात शिशु के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। डॉक्टर ने कहा कि नवजात शिशु की मां संक्रमित नहीं हैं। स्थानीय निकाय के डॉक्टर किशोर गवास का कहना है कि नगर निगम के जुचान्द्रा स्वास्थ्य केंद्र में शिशु की जांच की गई। उन्होंने बताया कि शिशु की मां की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। शिशु की जांच जन्म के कुछ दिन बाद तय प्रक्रिया के तहत की गई है।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के संक्रमण से शनिवार को दिल्ली के सबसे छोटे मरीज डेढ़ माह के मासूम की मौत हो गई। वह दिल्ली स्थित लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज से जुड़े कलावती सरन अस्पताल के आईसीयू में भर्ती था। 1 दिन पहले ही उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। मासूम के पिता की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। दिल्ली एम्स में भी एक नर्सिंग अधिकारी और उनका 20 माह का बच्चा संक्रमित पाया है। अस्पताल में ही भर्ती 10 माह का एक और बच्चा संक्रमण की चपेट में आ गया है। दरअसल, सबसे पहले अस्पताल के पीडियाट्रिक आईसीयू में काम करने वाले एक डॉक्टर इसकी चपेट में आए। उसके बाद 2 नर्स कर्मचारियों में संक्रमण की पुष्टि हुई। अस्पताल प्रशासन ने तुरंत इनके संपर्क में आने वाले बच्चों और अन्य स्वास्थ्यकर्मियों की जांच कराई। इनमें कुल 10 लोगों को संक्रमण की पुष्टि हुई। आईसीयू में कोरोना संक्रमण फैलने के बाद अस्पताल प्रशासन आईसीयू को बंद कर सैनेटाइज करने पर विचार कर रहा है। यहां भर्ती दर्जनभर से ज्यादा बच्चों में से सात वेंटिलेटर पर हैं। फिलहाल इन सभी के सैंपल जांच के लिए भेजे हैं। इनके परिजनों और स्वास्थ्यकर्मियों के संपर्क में आने वाले भी चिह्नित किया जा रहा है। नजफगढ़ में शनिवार को एक युवक की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिसके बाद नजफगढ़ के 81 परिवारों को क्वारंटाइन किया है। महाराष्ट्र के पालघर जिले के वसई-विरार नगर निगम क्षेत्र में महज 8 दिन के नवजात शिशु के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। डॉक्टर ने कहा कि नवजात शिशु की मां संक्रमित नहीं हैं। स्थानीय निकाय के डॉक्टर किशोर गवास का कहना है कि नगर निगम के जुचान्द्रा स्वास्थ्य केंद्र में शिशु की जांच की गई। उन्होंने बताया कि शिशु की मां की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। शिशु की जांच जन्म के कुछ दिन बाद तय प्रक्रिया के तहत की गई है।