एसएसबी ने पकड़ी एक करोड़ नेपाली मुद्रा, पांच हिसारत में

महराजगंज: भारत नेपाल की सोनौली सरहद पर तैनात सशस्त्र सीमा बल के जवानों ने आज अपरान्ह एक करोड़ नेपाली मुद्रा को पकड़ा। उक्त रकम कुछ व्यापारियों द्वारा नेपाल ले जायी जा रही थी। खबर है कि इतनी बड़ी रकम के नेपाल ले जाने की जानकारी एसएसबी के अफ सरों को मुखबीर के जरिये मिली। पकड़ी गयी रकम को जवानों ने अपने कब्जे में ले लिया। इसके साथ ही करीब आधा दर्जन उन लोगों को हिरासत में लिया गया है, जो उक्त रकम को लेकर नेपाल जा रहे थे। उधर रकम के सम्बन्ध में सोनौली के व्यापारियों ने एसएसबी अधिकारियों को अवगत कराया कि उक्त रकम सूरत के उन व्यापारियों की है जो यहां के व्यापारियों से बकाया वसूली के बाद जमा की गयी थी।




घटना अपरान्ह करीब तीन बजे की है। व्यापारियों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार सूरत के कुछ व्यापारी नौतनवा व सोनौली के दुकानदारों से अपने बकाये रकम की भुगतान के लिए आये थे। उन्होंने व्यापारियों से अपना बकाया वसूला। चूंकि उन्हें नेपाली मुद्रा मिली इसलिए वह उसे भारतीय मुद्रा में बदलने के लिए नेपाल जा रहे थे। बताया जाता है कि इसी बीच इतनी बड़ी रकम के नेपाल ले जाने की जानकारी मुखबीर के द्वारा एसएसबी अफ सरों को हो गयी। उन्होंने उक्त रकम को नो मेन्स लैण्ड पर नेपाल जाने से पूर्व ही रोक लिया। उन्होंने रकम के साथ नेपाल जा रहे लोगों को अपने हिरासत में ले लिया। जब इसकी जानकारी व्यापारियों को हुई तो इनमें अफ रा तफ री मच गयी। जानकारी व्यापार मण्डल के अध्यक्ष विजय रौनियार को दी गयी।

रौनियार ने उपाध्यक्ष जगदीश जायसवाल के साथ एसएसबी के अफ सरों से इस बावत वार्ता की। वार्ता के दौरान सोनौली में तैनात एसएसबी के सब इंस्पेक्टर राजा कुमार ने बताया कि उक्त रकम और उसके साथ हिरासत में लिये गये लोगों की जानकारी से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करा दिया है। उनका यह भी कहना था कि उच्चाधिकारियों द्वारा इस बात की सूचना आयकर विभाग को दे दी गयी है। आयकर अफ सरों की छानबीन के बाद ही इस बावत कोई कदम उठाये जायेंगे। समाचार लिखे जाने तक पकड़ी गयी रकम और हिरासत में लिये गये लोगों से एसएसबी के अधिकारी पूछताछ कर रहे थे।

Loading...