पुलवामा अटैक : आतंकी आदिल डार के साथ मौजूद था एक और शख्स, जांच में हुआ खुलासा

aadil daar
पुलवामा अटैक : आतंकी आदिल डार के साथ एक और शख्स, जांच में हुआ खुलासा

नई दिल्ली। जम्मू—कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ दस्ते पर हमले में एक और अहम खुलासा हुआ है। जांच में जुटे अधिकारियों के मुताबिक जिस तरह से यह हमला किया गया, उसे देखते हुए लगता है कि हमलावर पहले इस तरह की कोई कार्रवाई का हिस्सा रहा होगा और पूरी तरह प्रशिक्षित होगा।

One More Person Was Present With Aadil Dar In Pulwama Attack According To Investigating Team :

वहीं ये भी सामने आया कि घटना के वक्त आदिल के साथ एक और भी शख्स था, अब वो कौन ​था जांच टीमे इसका पता लगाने का प्रयास कर रही है। इसके अलावा आदिल के अंतिम वीडियो में सामने रखे हथियारों ने भी सुरक्षाबलों की नींद उड़ा दी है।

बताया जा रहा है कि आदिल के साथ दूसरा आत्मघाती था, तो वह जरूर पाकिस्तानी मूल का रहा होगा। बता दें कि जिस तरह का ये हमला हुआ है ठीक इसी तर्ज पर 31 मई, 2017 को अफगानिस्तान के काबुल में हुआ था। वहीं जांच टीमों का कहना है कि जिसने जिस शख्स ने ये वाहन तैयार किया होगा, उसे केमिस्ट्री की अच्छी समझ होगी।

बताया जा रहा है कि वाहन में इस तरह विस्फोटक रखा गया था कि वह टारगेट के साथ टकराने पर दिशा विशेष में ज्यादा नुकसान करे। यही शेप चार्जड वाहन बम की खासियत होती है। जांच अधिकारी ने बताया कि आदिल डार का जो अंतिम वीडियो है, उसमें उसके सामने रखे हथियारों में इपीएम मैगजीन हैं। ये वो मैगजीन है जो वर्ष 2016-17 के दौरान अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना ने प्रयोग किया था।

नई दिल्ली। जम्मू—कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ दस्ते पर हमले में एक और अहम खुलासा हुआ है। जांच में जुटे अधिकारियों के मुताबिक जिस तरह से यह हमला किया गया, उसे देखते हुए लगता है कि हमलावर पहले इस तरह की कोई कार्रवाई का हिस्सा रहा होगा और पूरी तरह प्रशिक्षित होगा।वहीं ये भी सामने आया कि घटना के वक्त आदिल के साथ एक और भी शख्स था, अब वो कौन ​था जांच टीमे इसका पता लगाने का प्रयास कर रही है। इसके अलावा आदिल के अंतिम वीडियो में सामने रखे हथियारों ने भी सुरक्षाबलों की नींद उड़ा दी है।बताया जा रहा है कि आदिल के साथ दूसरा आत्मघाती था, तो वह जरूर पाकिस्तानी मूल का रहा होगा। बता दें कि जिस तरह का ये हमला हुआ है ठीक इसी तर्ज पर 31 मई, 2017 को अफगानिस्तान के काबुल में हुआ था। वहीं जांच टीमों का कहना है कि जिसने जिस शख्स ने ये वाहन तैयार किया होगा, उसे केमिस्ट्री की अच्छी समझ होगी।बताया जा रहा है कि वाहन में इस तरह विस्फोटक रखा गया था कि वह टारगेट के साथ टकराने पर दिशा विशेष में ज्यादा नुकसान करे। यही शेप चार्जड वाहन बम की खासियत होती है। जांच अधिकारी ने बताया कि आदिल डार का जो अंतिम वीडियो है, उसमें उसके सामने रखे हथियारों में इपीएम मैगजीन हैं। ये वो मैगजीन है जो वर्ष 2016-17 के दौरान अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना ने प्रयोग किया था।