1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. अमरनाथ यात्रा के लिए ऑनलाइन अग्रिम पंजीकरण 15 अप्रैल से होगा शुरू

अमरनाथ यात्रा के लिए ऑनलाइन अग्रिम पंजीकरण 15 अप्रैल से होगा शुरू

अमरनाथ यात्रा के लिए ऑनलाइन अग्रिम यात्री पंजीकरण प्रक्रिया 15 अप्रैल से शुरू की जाएगी। अब शिव भक्त श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड की संबंधित वेबसाइट पर जाकर खुद को यात्रा के लिए ऑनलाइन पंजीकरण करवा सकेंगे।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। अमरनाथ यात्रा के लिए ऑनलाइन अग्रिम यात्री पंजीकरण प्रक्रिया 15 अप्रैल से शुरू की जाएगी। अब शिव भक्त श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड की संबंधित वेबसाइट पर जाकर खुद को यात्रा के लिए ऑनलाइन पंजीकरण करवा सकेंगे। यात्री को ऑनलाइन आवेदन के दौरान अपना ब्योरा, फोटोग्राफ और अनिवार्य स्वास्थ्य प्रमाणपत्र (सीएचसी) देना होगा।

पढ़ें :- Turkey Earthquake : मिडिल ईस्ट के चार देश भूकंप से तबाह, चारों तरफ बिछीं सैकड़ों लाशें, हजारों इमारतें जमींदोज

यात्रियों के रुझान के मुताबिक ही दैनिक आधार पर पारंपरिक बालटाल और चंदनबाड़ी ट्रैक के लिए यात्री कोटे को निर्धारित किया जाएगा। अब तक देशभर में विभिन्न बैंक शाखाओं में करीब 20 हजार यात्री अग्रिम पंजीकरण करवा चुके हैं। बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) नीतीश्वर कुमार ने बताया कि इस बार 56 दिन की यात्रा के लिए बैंक शाखाओं के साथ ऑनलाइन पंजीकरण सुविधा दी जाएगी।

ऑनलाइन पंजीकरण के लिए बोर्ड की ओर से केंद्र शासित प्रदेशों और राज्यों में मान्यता प्राप्त डॉक्टर व चिकित्सा संस्थान की ओर से गत 15 मार्च के बाद से जारी सीएचसी लिए जाएंगे। ऑनलाइन पंजीकरण के लिए जाली सीएचसी की निगरानी की जाएगी। बोर्ड की वेबसाइट पर यात्रियों को ऑनलाइन पंजीकरण की पूरी जानकारी दी जाएगी।

यात्रियों को साथ लानी होगी फोटो आईडी

यात्रा के दौरान यात्रियों को अपने साथ असली फोटो आईडी और सीएचसी साथ में रखना होगा। यात्रियों को निर्धारित तिथि और रूट के मुताबिक ही यात्री परमिट जारी किया जाएगा। दोमेल और चंदनबाड़ी एंट्री गेट से यात्रियों को संबंधित यात्री परमिट के आधार पर ही आगे छोड़ा जाएगा। ऑनलाइन यात्री पंजीकरण में पहले आओ पहले पाओ की व्यवस्था रहेगी। यात्रा के लिए 13 वर्ष से कम, 75 वर्ष से अधिक और छह हफ्ते की गर्भवती महिला योग्य नहीं माने जाएंगे। हेलीकाप्टर से यात्रा करने वालों को अग्रिम पंजीकरण करवाने की जरूरत नहीं होगी, लेकिन उन्हें असली सीएचसी दिखाना होगा।

पढ़ें :- Turkiye Earthquake : भूकंप से तुर्किये तबाह, भारत ने की मदद की पेशकश,मुश्किल घड़ी में पुराने दुश्मन देशों का भी मिला सहारा

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...