महिला ने ‘ऑनलाइन भीख’ मांगकर 17 दिन में कमाए 35 लाख, गिरफ्तार

Capture
महिला ने 'ऑनलाइन भीख' मांगकर 17 दिन में कमाए 35 लाख, हुई गिरफ्तार

नई दिल्ली। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में एक महिला को सोशल मीडिया पर मदद की अपील कर 17 दिन में लोगों से 50 हजार डॉलर (करीब 35 लाख रुपये) की ठगी करने वाली महिला को यहां गिरफ्तार कर लिया गया है। उसने फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पर खुद को तलाकशुदा बताते हुए लोगों से अपने बच्चों के पालन-पोषण में मदद की अपील की थी।

Online Woman Beggar Makes 50 Thousand Dollars In 17 Days :

दुबई पुलिस के एक अधिकारी ने रविवार को बताया कि महिला को फेसबुक, इंस्टाग्राम एवं ट्विटर के जरिए कई लोगों को ठगने और महज 17 दिनों में इतना पैसा इकठ्ठा करने के लिए गिरफ्तार किया गया। हालांकि दुबई पुलिस ने महिला की नागरिकता या उम्र का खुलासा नहीं किया है।

‘गल्फ न्यूज’ की खबर के मुताबिक दुबई पुलिस के अपराध जांच विभाग के निदेशक ब्रिगेडियर जमाल अल सलेम अल जल्लाफ ने बताया कि महिला ने ऑनलाइन अकाउंट बनाए और बच्चों की तस्वीरें पोस्ट कर उनका पालन-पोषण करने के लिए पैसा जुटाने की बात कह भीख मांगी।

ब्रिगेडियर अल जल्लाफ ने कहा, ‘वह लोगों से कहती थी कि वह तलाकशुदा है और अपने बच्चों को खुद ही पाल रही है। लेकिन उसके पूर्व पति ने ई-अपराध मंच पर उसकी शिकायत की और साबित किया कि बच्चे उसके साथ रहते हैं।’ ब्रिगेडियर अल जल्लाफ ने लोगों से अपील की कि वे सड़कों या सोशल मीडिया पर भिक्षावृत्ति करने वालों से सहानुभूति न दिखाएं।

क्राउड फंडिंग से आया भीख मांगने का आइडिया

भारतीय चुनाव में जेएनयू के पूर्व छात्र कन्हैया कुमार और आप नेता आतिशी समेत कई उम्मीदवारों ने ऑनलाइन प्लेटफार्म पर दान की अपील की थी। उन्हें दान मिला भी। इसी तरह, विदेशों में भी ऑनलाइन दान का चलन बढ़ा है। इसे क्राउंड फंडिंग कहा जाता है। इसी तरीके को अपनाकर महिला ने ऑनलाइन भीख की अपील की हालांकि, महिला के पति ने इस ई-क्राइम प्लेटफॉर्म में उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद उसे गिरफ्तार किया गया।

नई दिल्ली। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में एक महिला को सोशल मीडिया पर मदद की अपील कर 17 दिन में लोगों से 50 हजार डॉलर (करीब 35 लाख रुपये) की ठगी करने वाली महिला को यहां गिरफ्तार कर लिया गया है। उसने फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पर खुद को तलाकशुदा बताते हुए लोगों से अपने बच्चों के पालन-पोषण में मदद की अपील की थी। दुबई पुलिस के एक अधिकारी ने रविवार को बताया कि महिला को फेसबुक, इंस्टाग्राम एवं ट्विटर के जरिए कई लोगों को ठगने और महज 17 दिनों में इतना पैसा इकठ्ठा करने के लिए गिरफ्तार किया गया। हालांकि दुबई पुलिस ने महिला की नागरिकता या उम्र का खुलासा नहीं किया है। 'गल्फ न्यूज' की खबर के मुताबिक दुबई पुलिस के अपराध जांच विभाग के निदेशक ब्रिगेडियर जमाल अल सलेम अल जल्लाफ ने बताया कि महिला ने ऑनलाइन अकाउंट बनाए और बच्चों की तस्वीरें पोस्ट कर उनका पालन-पोषण करने के लिए पैसा जुटाने की बात कह भीख मांगी। ब्रिगेडियर अल जल्लाफ ने कहा, 'वह लोगों से कहती थी कि वह तलाकशुदा है और अपने बच्चों को खुद ही पाल रही है। लेकिन उसके पूर्व पति ने ई-अपराध मंच पर उसकी शिकायत की और साबित किया कि बच्चे उसके साथ रहते हैं।' ब्रिगेडियर अल जल्लाफ ने लोगों से अपील की कि वे सड़कों या सोशल मीडिया पर भिक्षावृत्ति करने वालों से सहानुभूति न दिखाएं। क्राउड फंडिंग से आया भीख मांगने का आइडिया भारतीय चुनाव में जेएनयू के पूर्व छात्र कन्हैया कुमार और आप नेता आतिशी समेत कई उम्मीदवारों ने ऑनलाइन प्लेटफार्म पर दान की अपील की थी। उन्हें दान मिला भी। इसी तरह, विदेशों में भी ऑनलाइन दान का चलन बढ़ा है। इसे क्राउंड फंडिंग कहा जाता है। इसी तरीके को अपनाकर महिला ने ऑनलाइन भीख की अपील की हालांकि, महिला के पति ने इस ई-क्राइम प्लेटफॉर्म में उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद उसे गिरफ्तार किया गया।