1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. केवल बसपा ही हरा सकती है भाजपा को,आखिर मायावती के इस बयान के पीछे क्या है सच्चाई?

केवल बसपा ही हरा सकती है भाजपा को,आखिर मायावती के इस बयान के पीछे क्या है सच्चाई?

यूपी के 2022 के विधानसभा के दौरान बसपा की मुखिया मायावती ने एक बयान में कहा था कि भाजपा को सिर्फ बसपा ही हरा सकती है। उनका इशारा सिर्फ मुस्लिम वोट बैंक की तरफ था जो उनसे छिटक गया है। वो उस वोट बैंक को पाने की कोशिश में जुटी हैं। लेकिन वहीं आजमगढ़ में हुए

By प्रिया सिंह 
Updated Date

लखनऊ: यूपी के 2022 के विधानसभा के दौरान बसपा की मुखिया मायावती ने एक बयान में कहा था कि भाजपा को सिर्फ बसपा ही हरा सकती है। उनका इशारा सिर्फ मुस्लिम वोट बैंक की तरफ था जो उनसे छिटक गया है। वो उस वोट बैंक को पाने की कोशिश में जुटी हैं। लेकिन वहीं आजमगढ़ में हुए लोकसभा के उपचुनाव में भी मायावती ने जमकर तैयारी की लेकिन एक बार फिर से उनके हाथ कुछ नहीं लगा। इसके बाद मायावती ने फिर वही बयान दोहराया कि बीजेपी को सिर्फ बसपा ही हरा सकती है।

पढ़ें :- एनडीए उम्मीदवार जगदीप धनखड़ को समर्थन देने का मायावती ने किया ऐलान, बीजेपी ने जताया आभार

उत्तर प्रदेश में भाजपा की जीत की सिलसिला 2014 से ही जारी है। वह लगातार हर चुनाव में जीत हासिल कर रही है। कोई भी पार्टी इसको रोक नही पा रही है। लेकिन वहीं बसपा की मुखिया मायावती हर बार दावा करते नजर आती है कि भाजपा को केवल बसपा ही हरा सकती हैं। मायावती बीजेपी को रोकने के लिए जिस दावे की बात कर रही हैं वो उनकी सोशल इंजीनियरिंग में छिपा हुआ है।

राजनीतिक विश्लेषकों की माने तो सिर्फ मुस्लिम और दलित समीकरण के सहारे बीजेपी को नहीं रोक सकती हैं। बताया जा रहा है कि अगर बीजेपी को रोकना है तो मायावती को 2007 वाले फार्मूला को लाना होगा।

साल 2007 के चुनाव में बसपा ने जो सोशल इंजीनियरिंग का गुलदस्ता बनाया था कुछ वैसा ही गुलदस्ता आज बीजेपी बना चुकी है। बसपा को सोशल इंजीनिरिंग को लेकर हर समाज के बड़े नेताओं को अपने पाले में लाना होगा।

पढ़ें :- बसपा सांसद अफजाल अंसारी की 14.90 करोड़ संपत्ति को किया गया कुर्क
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...