1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. न्यूज चैनलों के ओपिनियन पोल पर तत्काल रोक लगाए चुनाव आयोग, सपा ने लिखा पत्र

न्यूज चैनलों के ओपिनियन पोल पर तत्काल रोक लगाए चुनाव आयोग, सपा ने लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश विधान सभा सामान्य निर्वाचन 2022 के चुनावों की तारीखों का ऐलान बीते 8 जनवरी को हो चुका है। इसके अलावा प्रथम चरण का नामांकन समाप्त हो गया है। प्रदेश में सात चरणों में चुनाव होगे, अन्तिम चरण का मतदान 7 मार्च 2022 को होगा, जब कि मतगणना 10 मार्च 2022 को होगी। कई न्यूज चैनल ओपिनियन पोल (Opinion poll) दिखा रहे है जिससे मतदाता भ्रमित हो रहा है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधान सभा सामान्य निर्वाचन 2022 के चुनावों की तारीखों का ऐलान बीते 8 जनवरी को हो चुका है। इसके अलावा प्रथम चरण का नामांकन समाप्त हो गया है। प्रदेश में सात चरणों में चुनाव होगे, अन्तिम चरण का मतदान 7 मार्च 2022 को होगा, जब कि मतगणना 10 मार्च 2022 को होगी। कई न्यूज चैनल ओपिनियन पोल (Opinion poll) दिखा रहे है जिससे मतदाता भ्रमित हो रहा है। इससे चुनाव भी प्रभावित हो रहा है और न्यूज चैनलों का यह कार्य आदर्श आचार संहिता का खुला उल्लंघन है। स्वतंत्र, निष्पक्ष, निर्भीक चुनाव सम्पन्न कराने के लिए न्यूज चैनलों द्वारा दिखाये जा रहे ओपिनियन पोल (Opinion poll) पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई जाय।

पढ़ें :- आयुष्मान भारत फाउंडेशन ने आर्यन पांडे को दी बड़ी जिम्मेदारी

यह मांग समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सदस्य, विधान परिषद नरेश उत्तम पटेल ने रविवार को मुख्य चुनाव आयुक्त भारत निर्वाचन आयोग निर्वाचन सदन,नई दिल्ली को पत्र लिखकर की है। बता दें कि चुनाव आयोग द्वारा अंतिम चरण के मतदान तक किसी भी सर्वे या पोल पर प्रतिबंध है। जनप्रतिनिधित्व कानून, 1951 धारा 126 के तहत चुनाव आयोग ने किसी भी तरह एक्जिट पोल और उसके परिणाम पर रोक लगा रखी है।

देखें 2009 में जारी चुनाव आयोग के दिशा- निर्देश

किसी भी समय में किए गए किसी भी जनमत सर्वेक्षण या एक्जिट पोल का कोई परिणाम नहीं प्रकाशित किया जायेगा। प्रसार-प्रचार किसी भी तरीके से नहीं किया जाएगा चाहे प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक या किसी भी अन्य मीडिया द्वारा।

पढ़ें :- शिवपाल यादव ने फिर पढ़े सीएम योगी की तारीफ में कसीदे, अखिलेश पर साधा निशाना

(1) एक ही चरण में समाप्त हो रहे चुनाव में मतदान के निर्धारित समय के 48 घंटे के भीतर कोई भी पोल प्रकाशित नहीं किया जायेगा।

(2) विभिन्न चरणों में हो रहे चुनाव में अंतिम चरण के मतदान के लिए निर्धारित समय सीमा के 48 घंटे के भीतर कोई भी पोल प्रकाशित नहीं किया जायेगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...