1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. विपक्ष का तंज : मोदी जी देश को आपका ‘भाषण’ नहीं, ‘ऑक्सीजन’ चाहिए

विपक्ष का तंज : मोदी जी देश को आपका ‘भाषण’ नहीं, ‘ऑक्सीजन’ चाहिए

कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बाद बिगड़ते हालात के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को 8वीं बार देश को संबोधित किया। उन्होंने देश को लॉकडाउन से बचने का संदेश दिया। इसके साथ ही राज्य सरकारों से इसे आखिरी विकल्प के तौर पर इस्तेमाल करने का आग्रह किया।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बाद बिगड़ते हालात के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को 8वीं बार देश को संबोधित किया। उन्होंने देश को लॉकडाउन से बचने का संदेश दिया। इसके साथ ही राज्य सरकारों से इसे आखिरी विकल्प के तौर पर इस्तेमाल करने का आग्रह किया है ।

पढ़ें :- Turkey Earthquake : मिडिल ईस्ट के चार देश भूकंप से तबाह, चारों तरफ बिछीं सैकड़ों लाशें, हजारों इमारतें जमींदोज

हालांकि पीएम मोदी के संबोधन पर विपक्ष के तरफ से तीखी प्रतिक्रिया आई है। सोशल मीडिया पर उनके भाषण की जमकर आलोचना हो रही है।विपक्षी दलों के नेता पीएम मोदी के कोरोना पर दिए भाषण की निंदा कर रहे हैं। नेताओं ने कहा कि देश को इस वक्त आपके भाषण की नहीं ऑक्सीजन की जरूरत है। बता दें कि पीएम मोदी ने अपने 19 मिनट के संबोधन में कहा कि लॉकडाउन से बचने की भरपूर कोशिश करनी है और माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है। ताकि लॉकडाउन जैसे हालात न बने।

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा कि पीएम मोदी का भाषण कुछ अलग ही अंदाज का था। पिछले साल कोरोना की पहली लहर में केंद्र ने सब कुछ अपने हाथों में रखा था, यहां तक कि लॉकडाउन भी केंद्र सरकार की ओर से लगाया गया था। लेकिन एक साल बाद कोरोना की दूसरी लहर को नियंत्रित करने की जिम्मेदारी  राज्य सरकारें और मोहल्ला समितियों पर डाल दी गई है। आखिर एक साल में ऐसे बदलाव कैसे हो गया?

पीएम मोदी के भाषण के बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि रात 8.45 बजे के ज्ञान का सार -‘मेरे बस का कुछ नही, यात्री अपने सामान यानी जान की रक्षा स्वयं करें।’

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा कि पीएम मोदी के भाषण का लबोलुआब यही रहा कि दोस्तों आप स्वयं की सुरक्षा करो। अगर आप कोरोना को मात देकर निकलने में सक्षम रहे तो निश्चित रूप से हम किसी उत्सव और महोत्सव में मिलेंगे। तब तक के लिए शुभकामनाएं। भगवन आपके साथ रहे।

इंडियन यूथ कांग्रेस के नेता श्रीनिवास ने भी पीएम मोदी के भाषण पर ट्वीट किया। क्षमा कीजिए देश को ‘भाषण’ की नही, ‘ऑक्सीजन’ की जरूरत है ।

पढ़ें :- UP Global Investors Summit-2023 : प्रो. निशी पाण्डेय बोलीं- यूपी एक ट्रिलियन अर्थव्यवस्था का लक्ष्य हासिल करने में तेजी से है अग्रसर

छत्तीसगढ़ के मंत्री टीएस सिंह देव ने कहा कि मैं उम्मीद कर रहा था कि पीएम अपने संबोधन में  नि:शुल्क वैक्सीन की घोषणा करेंगे। पीएम ने इस बात का जिक्र नहीं किया कि टीका उत्पादन क्षमता को कितना बढ़ाया जाएगा और इसके बाद राज्यों को दिए जाने वाले टीकों की संख्या में कितनी वृद्धि होगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...