1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए मनोनीत करने पर विपक्ष साधा निशाना, नेताओं ने कही ये बातें

रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए मनोनीत करने पर विपक्ष साधा निशाना, नेताओं ने कही ये बातें

By बलराम सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। देश के पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राज्यसभा के लिए मनोनीत किया है। सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश के राज्यसभा में मनोनयन को लेकर कांग्रेस और एमआईएम ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। वहीं पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने कहा कि रंजन गोगई इस प्रस्ताव को ठुकरा देंगे। इसके अलावा माकपा नेता सीताराम येचुरी ने गोगोई को उनकी कही बात याद दिलाई है।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लमिन के अध्यक्ष और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने अपने ट्विटर पर लिखा, ‘क्या यह इनाम है?’ लोग न्यायाधीशों की स्वतंत्रता पर यकीन कैसे करेंगे? कई सवाल हैं। वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने राष्ट्रपति द्वारा गोगोई को नामित किए जाने को लेकर ट्वीट करते हुए दो तस्वीरें शेयर की। उन्होंने लिखा, ‘यह तस्वीरें सच बयां कर रही हैं।’

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने गोगोई को नामित करने पर सवाल खड़ा किए। उन्होंने लिखा, तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा (सुभाष चंद्र बोस)। तुम मेरे हक में वैचारिक फैसला दो मैं तुम्हें राज्यसभा सीट दूंगा (भाजपा)।

अटल-आडवाणी के जमाने में भाजपा के बड़े नेता रहे पूर्व आईएएस अफसर यशवंत सिन्हा ने ट्वीट कर लिखा, मैं आशा करता हूं कि पूर्व चीफ़ जस्टिस रंजन गोगोई के पास राज्यसभा सीट के ऑफर पर ना कहने का अच्छा सेंस होगा। वरना वे न्यायपालिका की प्रतिष्ठा को भारी नुकसान पहुंचाएंगे। माकपा के राज्यसभा सांसद सीताराम येचुरी ने लिखा, ‘रंजन गोगोई ने पिछले साल खुद ही कहा था कि ‘ऐसा बड़ी मजबूती से माना जाता है कि सेवानिवृत्ति के बाद होने वाली नियुक्तियां न्यायपालिका की आजादी पर धब्बा है।’

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...