बच्चे टॉयलेट जाएँ तो आप फोटो खींच के भेजिये, ये फरमान सुन हैरान रह गए शिक्षाकर्मी

रायपुर। पूरे भारत में स्वच्छता को लेकर अभियान चलाये जा रहे हैं। वहीं कई बार ज्यादा उत्साह में आ कर अधिकारी कई अजीबोगरीब फरमान जारी कर दे रहे हैं। रायपुर के धमतरी जिले का एक मामला सामने आया है जिसमें पंचायत सीईओ जगदीश सोनकर के एक अजीबोगरीब आदेश से शिक्षाकर्मी हैरान हो गए हैं।

आदेश के मुताबिक जिले के सभी 355 ग्राम पंचायतों के 1405 सरकारी स्कूलों में बनाए गए शौचालयों का शिक्षाकर्मी प्रतिदिन निरीक्षण कर उसके रखरखाव की न केवल जानकारी देंगे, बल्कि उसका फोटो भी अधिकारियों को वाट्सएप ग्रुप पर भेजेंगे। यहां तक कि उन्हें छात्र-छात्राओं द्वारा शौचालय का उपयोग करते हुए फोटो भी रोज भेजना है।

{ यह भी पढ़ें:- ये कैसी मजबूरी, 15 दिन के बच्चे को मां ने 45 हजार में बेचा }

अब शिक्षाकर्मी पसोपेश में हैं कि यदि कन्या स्कूल में पुरुष शिक्षाकर्मी या लड़कों के स्कूल में महिला शिक्षाकर्मी हो तो शौचालय का फोटो कैसे ले सकेंगे। दो साल पहले सीईओ जगदीश सोनकर तब चर्चा में आए थे, जब वे बलरामपुर के सीईओ थे। वे अस्पताल के निरीक्षण के दौरान मरीज के बेड पर पैर रखकर उसका हाल चाल पूछ रहे थे।

{ यह भी पढ़ें:- जींस पहनकर स्कूल आया छात्र, गुस्साए प्रिंसिपल ने कैंची से किया ऐसा... }

Loading...