1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. लखनऊ में ‘अध्यात्म द्वारा अनिश्चित्ता पर विजय’ कार्यक्रम का आयोजन, दयाल बाघ, सुशांत गोल्फ़ सिटी में कल

लखनऊ में ‘अध्यात्म द्वारा अनिश्चित्ता पर विजय’ कार्यक्रम का आयोजन, दयाल बाघ, सुशांत गोल्फ़ सिटी में कल

अध्यात्म संस्था ब्रह्मकुमारी परिवार व दयाल ग्रुप के तरफ से आयोजित 'अध्यात्म द्वारा अनिश्चित्ता पर विजय' कार्यक्रम समाज में हर वर्ग एवं हर आयु के भीतर हर प्रकार की अनिश्चित्ता का समाधान किस प्रकार अध्यात्म द्वारा किया जा सकता है। इस पर प्रकाश डाला जाएगा ।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। अध्यात्म संस्था ब्रह्मकुमारी परिवार व दयाल ग्रुप के तरफ से आयोजित ‘अध्यात्म द्वारा अनिश्चित्ता पर विजय’ कार्यक्रम समाज में हर वर्ग एवं हर आयु के भीतर हर प्रकार की अनिश्चित्ता का समाधान किस प्रकार अध्यात्म द्वारा किया जा सकता है। इस पर प्रकाश डाला जाएगा । अध्यात्म का शाब्दिक अर्थ है – ‘स्वयं का अध्ययन-अध्ययन-आत्म। इस विषय पर ब्रह्मकुमारी द्वारा विख्यात आध्यात्मिक शिक्षिका बहन शिवानी भी उपस्थित रहेंगी । राजयोगिनी शिवानी बहन जीवन के मूल्यों, आत्म-प्रबंधन, आंतरिक शक्तियों, रिश्तों में सामंजस्य, कर्म के कानून, उपचार, आत्म-सशक्तिकरण, आत्म-अनुशासन, संगठन के बारे में, आध्यात्मिकता और जीवन जीने की कला पर एवं अध्यात्म के प्रति जागरूकता देंगी।

पढ़ें :- स्वामी प्रसाद मौर्य का SC/ST और OBC संगठन एक फरवरी को करेंगे सम्मान समारोह

कार्यक्रम का मूल स्वरूप हमारे भीतर चल रही हर प्रकार की अनिश्चित्ता का आध्यात्मिक स्वरूप से उत्तर देना होगा। अध्यात्म शब्द का अर्थ है आत्मा या आत्मा से संबंधित, सर्वोच्च आत्मा, स्वयं का, स्वयं से संबंधित, स्वयं या व्यक्तिगत व्यक्तित्व से संबंधित। समाज कार्य में राजेश सिंह के सौजन्य से अध्यात्म की ओर एक नई कड़ी का आरम्भ है।

उसी कड़ी में ‘अध्यात्म द्वारा अनिश्चित्ता पर विजय’  कार्यक्रम 4 नवम्बर सायंकाल 6:15 बजे से रात्रि 8 बजे तक दयाल बाघ, सुशांत गोल्फ़ सिटी में होना सुनिश्चित हुआ है । राजेश सिंह ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम समय समय पर होने चाहिए, जिससे हमारी संस्कृति व उनके आदर्श हमारे युवा पीढ़ी तक भली भांति प्रसारित हो सके।

मानवता के विकास की ओर अग्रसरित प्रयास में सहयोग के लिए ब्रह्मकुमारीज़ परिवार को बहुत बहुत धन्यवाद। लोगों से आग्रह किया कि ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़ कर कार्यक्रम को सफल बनाये व प्रसारित करने की अपील भी किया।

पढ़ें :- Aaj ka Panchang: माघ शुक्ल पक्ष दशमी, जाने शुभ-अशुभ समय मुहूर्त और राहुकाल...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...