इटली और स्पेन में कोरोना से हाहाकार, रिकॉर्ड मौतों का सिलसिला जारी

2020_3image_12_52_443737809k-ll

लॉस एंजेल्स। यूरोपीय देश इटली और स्पेन में कोरोना वायरस से रिकर्ड मौतों का सिलसिला जारी है। इस महामारी से दोनों देशों में हाहाकार मचा हुआ है। पिछले 24 घंटे में इटली में 793 और स्पेन में 324 लोगों की मौत से यूरोपीय देशों की हेल्थ सेवाएं चरमराने लगी हैं। इटली के प्रधानमंत्री गुउसेपे कोंटे ने शनिवार को कहा कि द्वितीय विश्व युद्ध के पश्चात् यह सबसे बड़ा आघात है। अब उनके पास इस संक्रामक रोग से मुकाबला करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है।

Outcry Over Corona In Italy And Spain Record Death Continues :

स्पेन में गत शुक्रवार को पांच हजार नए संक्रमित मामले सामने आए। इसके बावजूद शनिवार को इटली के नागरिकों ने अपने घरों की बालकनी से बाहर निकल कर अस्पतालों और फार्मा आदि सेवाओं में काम करने वालों के सम्मान में गीत गुनगुनाया। वहीं स्पेन में मेड्रिड और बार्सिलोना आदि शहरों के लोगों ने तालियां और घंटे बजाकर चिकित्सकों के प्रति कृतज्ञता दर्शाई।

अमेरिकी जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी की डाटा टीम के अनुसार कोरोना वायरस से दुनिया भर में संक्रामक रोग के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। शनिवार शाम तक 12,944 लोगों की जान जा चुकी है, जबकि इस रोग से तीन लाख (3,03,001) संक्रमित मामले सामने आए हैं। इस संक्रामक रोग के कहर से दुनिया भर में अर्थव्यवस्था पर भी ब्रेक लगा है, जिससे मंदी के आसार बनते जा रहे हैं। राष्ट्रपति के प्रमुख आर्थिक सलाहकार लैरी कुडलो ने कहा है कि इकॉनमी को उबारने और उसे नई संजीवनी देने के लिए दो खरब डॉलर की जरूरत पड़ सकती है, जो अमेरिकी जीडीपी (21.4 खरब डालर) का दस प्रतिशत है।

न्यूयार्क, कैलिफोर्निया, वाशिंगटन, इलिनोईस तथा मैसाचुटेस समेत कई राज्यों में कोरोना वायरस से स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है। देश के उत्तर पश्चमी राज्य वाशिंगटन की किंग काउंटी के वृद्धाश्रम (नर्सिंग होम) में मौत के तांडव के बाद इन दिनों न्यूयॉर्क में सैकड़ों नए संक्रमित मामलों में वृद्धि से गवर्नर एंड्रयू कोम की नींद उड़ी हुई है। कूमो ने बीते शुक्रवार को ही पूरे राज्य में लॉक-डाउन घोषित कर कड़े प्रतिबंध लगाए थे। न्यूयार्क में 10,356 संक्रमित मामले सामने आए हैं, जो अमेरिका के आधे से अधिक मामले हैं। अमेरिका में शनिवार की दोपहर तक 302 लोगों की मौत हो चुकी है।

लॉस एंजेल्स। यूरोपीय देश इटली और स्पेन में कोरोना वायरस से रिकर्ड मौतों का सिलसिला जारी है। इस महामारी से दोनों देशों में हाहाकार मचा हुआ है। पिछले 24 घंटे में इटली में 793 और स्पेन में 324 लोगों की मौत से यूरोपीय देशों की हेल्थ सेवाएं चरमराने लगी हैं। इटली के प्रधानमंत्री गुउसेपे कोंटे ने शनिवार को कहा कि द्वितीय विश्व युद्ध के पश्चात् यह सबसे बड़ा आघात है। अब उनके पास इस संक्रामक रोग से मुकाबला करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है।

स्पेन में गत शुक्रवार को पांच हजार नए संक्रमित मामले सामने आए। इसके बावजूद शनिवार को इटली के नागरिकों ने अपने घरों की बालकनी से बाहर निकल कर अस्पतालों और फार्मा आदि सेवाओं में काम करने वालों के सम्मान में गीत गुनगुनाया। वहीं स्पेन में मेड्रिड और बार्सिलोना आदि शहरों के लोगों ने तालियां और घंटे बजाकर चिकित्सकों के प्रति कृतज्ञता दर्शाई।

अमेरिकी जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी की डाटा टीम के अनुसार कोरोना वायरस से दुनिया भर में संक्रामक रोग के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। शनिवार शाम तक 12,944 लोगों की जान जा चुकी है, जबकि इस रोग से तीन लाख (3,03,001) संक्रमित मामले सामने आए हैं। इस संक्रामक रोग के कहर से दुनिया भर में अर्थव्यवस्था पर भी ब्रेक लगा है, जिससे मंदी के आसार बनते जा रहे हैं। राष्ट्रपति के प्रमुख आर्थिक सलाहकार लैरी कुडलो ने कहा है कि इकॉनमी को उबारने और उसे नई संजीवनी देने के लिए दो खरब डॉलर की जरूरत पड़ सकती है, जो अमेरिकी जीडीपी (21.4 खरब डालर) का दस प्रतिशत है।

न्यूयार्क, कैलिफोर्निया, वाशिंगटन, इलिनोईस तथा मैसाचुटेस समेत कई राज्यों में कोरोना वायरस से स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है। देश के उत्तर पश्चमी राज्य वाशिंगटन की किंग काउंटी के वृद्धाश्रम (नर्सिंग होम) में मौत के तांडव के बाद इन दिनों न्यूयॉर्क में सैकड़ों नए संक्रमित मामलों में वृद्धि से गवर्नर एंड्रयू कोम की नींद उड़ी हुई है। कूमो ने बीते शुक्रवार को ही पूरे राज्य में लॉक-डाउन घोषित कर कड़े प्रतिबंध लगाए थे। न्यूयार्क में 10,356 संक्रमित मामले सामने आए हैं, जो अमेरिका के आधे से अधिक मामले हैं। अमेरिका में शनिवार की दोपहर तक 302 लोगों की मौत हो चुकी है।