ओवरलोड वाहनों पर प्रतिबंध लगाने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा

बिजनौर/धामपुर। ओवरलोड वाहनों पर लगाम लगाने के उद्देश्य से नगर के कुछ ट्रांसपोटरों ने एसडीएम सत्येन्द्र कुमार सिंह से मुलाकात की तथा ज्ञापन सौंप कर ओवरलोड वाहनों पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। ज्ञापन में कहा गया है कि प्रदेश में बिजनौर, मुजफ्फरनगर, शामल आदि जनपदों परिवहन विभाग की दशा दयनीय है। इन तीनो जनपदों में ओवरलोड वाहनों को आरटीओ, सत्ता पक्ष के मंत्रियों व यातायात विभाग के कर्मचारियों द्वारा चलवाया जा रहा हैं, जो पूरी तरह से अवैध है और जो भी गाडियां चल रही हैं, उन पर एमआरबी, एमआरएल, जीएम रंधावा जैसे मार्का बने हुए है।




यह गाडियां बिना रोक-टोक सड़क पर दौड़ती हैं ओर कोई भी इन्हें रोकने की हिम्मत नहीं करता है। इन गाडियों को चलवाने वाले दलाल हर महीने मोटा पैसा इकऋा कर आरटीओ, मंत्रियों व यातायात विभाग के अन्य कर्मचारियों तक पहुंचा देते है। जिससे ओवरलोड वाहनों के सड़क पर दौडने से हर समय दुर्घटना होने की संभावना बनी रहती है और सड़कों भी क्षतिग्रस्त हो जाती है। शुगर मिलों में जो भी ओवरलोड वाहन दौड़ रहे हैं, उनमें मानकों को ताक पर रखकर गन्ना ढोया जा रहा है।




इसमें स्थानीय प्रशासन की भी मिलीभगत रहती है। इस पर पाबंदी लगाई जानी जरूरी है। शिकायती पत्र में कहा गया कि इस पर ध्यान दिया जाए और ओवरलोड वाहनों को बंद कराया जाए। ताकि छोटे ट्रक आपरेटरों को इससे फायदा हो सके। साथ ही सरकार को भी इससे फायदा होगा और टैक्स की चोरी बंद हो जाएगी। शिकायत पत्र देने वालों में सुशील कुमार सिंह उर्फ बब्ली ठाकुुर, सत्यप्रकाश सिंह, सईदुल हसन, फसाहत अली, सुभाषचंद्र, नसीम अहमद, नेमपाल सिंह, महेन्द्र सिंह त्यागी, मौहम्मद राशिद आदि शमिल रहे।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट

Loading...