ममता के बयान पर ओवैसी ने किया पलटवार, कहा-दीदी हैदराबाद में रहने वाले मुट्ठी भर लोगों से डर गईं

mamta and Owaisi
ममता के बयान पर ओवैसी ने किया पलटवार, कहा-दीदी हैदराबाद में रहने वाले मुट्ठी भर लोगों से डर गईं

हैदराबाद। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी के बीच सियासत बढ़ती जा रही है। ममता के ‘अल्पसंख्यक कट्टरता’ वाले बयान पर ओवैसी ने पलटवार किया है। ओवैसी ने कहा कि ममता दीदी हैदाराबाद में रहने वाले मुठ्ठी भर लोगों से डर गईं हैं।

Owaisi Hit Back At Mamtas Statement Said Didi Was Scared Of A Handful Of People Living In Hyderabad :

उन्होंने कहा कि, ये धार्मिक कट्टरता नहीं है कि किसी भी अल्पसंख्यकों में बंगाल के मुसलमानों का मानव विकास सूचकांक में सबसे खराब हालत है। अगर दीदी हैदराबाद में रहने वाले मुट्ठी भर लोगों से परेशान हैं तो वो ये बताये कि लोकसभा सीट में बीजेपी ने कैसे 42 में से 18 सीटें जीत ली। बता दें कि, ममता बनर्जी टीएमसी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर रहीं थीं।

इस दौरान उन्होंने ओवैसी का नाम लिए बगैर उन पर हमला किया। उन्होंने कहा कि, हैदराबाद की एक राजनीतिक पार्टी बीजेपी से पैसा लेकर अल्पसंख्यकों में कट्टरता फैलाती है। ममता बनर्जी कूचबिहार में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ एक बैठक में यह बातें कहीं थीं।

वहीं, ममता ने बैठक के बाद कूचबिहार में मदनमोहन मंदिर जाकर पूजा अर्चना की। इसके बाद वह राजबाड़ी ग्राउंड में आयोजित रास मेला में भी शामिल हुईं। बता दें कि एक हफ्ते पहले इस मंदिर में कूचबिहार से बीजेपी के सांसद नीतीश परमानिक भी पूजा करने पहुंचे थे। राजनीतिक जानकारों का कहना है कि ममता बनर्जी बीजेपी से टक्कर लेने के लिए हिन्दू कार्ड खेल रहीं हैं।

हैदराबाद। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी के बीच सियासत बढ़ती जा रही है। ममता के 'अल्पसंख्यक कट्टरता' वाले बयान पर ओवैसी ने पलटवार किया है। ओवैसी ने कहा कि ममता दीदी हैदाराबाद में रहने वाले मुठ्ठी भर लोगों से डर गईं हैं। उन्होंने कहा कि, ये धार्मिक कट्टरता नहीं है कि किसी भी अल्पसंख्यकों में बंगाल के मुसलमानों का मानव विकास सूचकांक में सबसे खराब हालत है। अगर दीदी हैदराबाद में रहने वाले मुट्ठी भर लोगों से परेशान हैं तो वो ये बताये कि लोकसभा सीट में बीजेपी ने कैसे 42 में से 18 सीटें जीत ली। बता दें कि, ममता बनर्जी टीएमसी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर रहीं थीं। इस दौरान उन्होंने ओवैसी का नाम लिए बगैर उन पर हमला किया। उन्होंने कहा कि, हैदराबाद की एक राजनीतिक पार्टी बीजेपी से पैसा लेकर अल्पसंख्यकों में कट्टरता फैलाती है। ममता बनर्जी कूचबिहार में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ एक बैठक में यह बातें कहीं थीं। वहीं, ममता ने बैठक के बाद कूचबिहार में मदनमोहन मंदिर जाकर पूजा अर्चना की। इसके बाद वह राजबाड़ी ग्राउंड में आयोजित रास मेला में भी शामिल हुईं। बता दें कि एक हफ्ते पहले इस मंदिर में कूचबिहार से बीजेपी के सांसद नीतीश परमानिक भी पूजा करने पहुंचे थे। राजनीतिक जानकारों का कहना है कि ममता बनर्जी बीजेपी से टक्कर लेने के लिए हिन्दू कार्ड खेल रहीं हैं।